जीवन का प्रत्येक कार्य ही योगमय होना चाहिए- प्रो. कामाख्या कुमार

हरियाणा:अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के संदर्भ में हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ के कुलपति प्रोफेसर टंकेश्वर कुमार की प्रेरणा से विश्वविद्यालय के योग विभाग और योग ट्रैकिंग एवं एडवेंचर क्लब द्वारा विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस व्याख्यान में विशेषज्ञ वक्ता के रूप में उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के योग विभाग के विभागाध्यक्ष, प्रोफेसर कामाख्या कुमार उपस्थित रहे।

व्याख्यान में सम्मिलित प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए प्रो.कामाख्या कुमार ने विद्यार्थियों को योग को जीवन में आत्मसात करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि योग का अभ्यास व्यक्ति के प्रत्येक कर्म में परिलक्षित होना चाहिए। केवल आसन या प्राणायाम करना ही योग नहीं है बल्कि जीवन का प्रत्येक कार्य ही योगमय होना चाहिए। राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के संयोजक और शिक्षा पीठ के सह-आचार्य डॉ. दिनेश चहल ने भी इस अवसर पर विद्यार्थियों को लगातार सीखते रहने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम के आरंभ में मुख्य अतिथि का परिचय योग विभाग के शिक्षक प्रभारी डॉ. अजय पाल ने प्रतिभागियों से कराया। कार्यक्रम में योग विभाग, भूगोल विभाग, शिक्षा पीठ और शारीरिक शिक्षा खेल विभाग के विद्यार्थियों ने भाग लिया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन शिक्षा पीठ की सहायक आचार्य डॉ. किरण रानी ने प्रस्तुत किया।

उपर्युक्त कार्यक्रम में योग विभाग के अतिथि व्याख्याता डॉ. रवि कुमार, ट्रैकिंग एवं एडवेंचर क्लब के सभी सदस्य सहायक आचार्य भूगोल विभाग डॉ. खेराज, सहायक आचार्य भूगोल विभाग डॉ. संदीप आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.