युवक की आत्महत्या के मामले में फंसाये गये निर्दोषों के परिजनों ने एसपी से मिल लगाई न्याय की गुहार

• परिजनों ने कहा- प्रेमिका के लिए युवक ने फांसी लगाकर की है आत्महत्या
• आपसी द्धेश में निर्दोश लोगों को फंसाया गया है
• एसपी को सौंपा ज्ञापन

सारण(बिहार)जिले के रिविलगंज थाना क्षेत्र के समशुदीनपुर गांव में प्रेम-प्रसंग में युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।इसी मामले में युवक के परिवार वालों ने गांव के हीं आठ निर्दोष लोगों को फंसा दिया है। मृतक के परिजनों ने हत्या करने का आरोप लगाया है।

एसपी सारण से मिलने पहुचे लोग

इस मामले में फंसाये गये निर्दोषों के परिजनों ने सारण के एसपी संतोष कुमार से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है। एसपी को ज्ञापन सौंपा गया है। परिजनों ने कहा कि युवक ने अपनी प्रेमिका के वियोग में फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है। 20 दिन पूर्व उसकी प्रेमिका ने भी घर में फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली थी। जिसके बाद से वह काफी परेशान था। मृतक भोजपुर जिले के स्व चंदेश्वर राय के 17 वर्षीय पुत्र पंकज कुमार है। जिसकी शादी गांव के हीं हिरा राय की पुत्री से तय हुई थी। वह दोनों फोन पर बात करते थे। किसी बात को लेकर दोनों में विवाद हुआ और प्रेमिका ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद 3 अप्रैल को प्रेमी ने भी समसुदीनपुर गावं स्थित पानी टंकी के पास पेड़ में फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया।

इस मामले में उसके परिजनों के द्वारा गांव के निर्दोष लोगों को फंसाया गया। परिजनों ने एसपी से मांग किया है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच कर निर्दोष लोगों को इंसाफ दिया जाय। परिजनों ने कहा कि अगर इन लोगों को इंसाफ नहीं मिलता है तो लोगों का भरोसा कानून से टूट जायेगा। वहीं सारण के एसपी ने इस मामले की गंभीरता से जांच करने का निर्देश दिया है।

आवेदन देने वालों में राजनती देवी, लगनी देवी,कृषणा राय,सुनिल राय,राजेंद्र राय,सुशीला देवी,लालबाबू राय,मुकेश कुमार,रविन्द्र राय, दीपक कुमार,पंकज कुमार,अमित कुमार,छठीलाल राय, राजकुमार राय,भोला कुमार सहित अन्य ग्रामीण और परिजन शामिल थे। सभी ने एक सुर में कहा कि यह आरोप सरासर गलत है। इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और मामले की वास्तविता सामने आनी चाहिए। इस मामले फंसाये गये निर्दोष लोगों के परिजनों ने कहा कि जो युवक आत्महत्या किया उसके मामा और परिवार के लोगों का अपराधिक इतिहास रहा है। शराब का कारोबार भी करते हैं। वहीं उसके एक सगे मामा शंकर राय और अन्य 5 चचेरे मामा हत्या के मामले में उम्र कैद की सजा काट रहें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.