कृषि विभाग के अधिकारियों के लापरवाही से खाद विक्रेताओं की चांदी

भगवानपुर हाट(सीवान)प्रखंड क्षेत्र में कृषि विभाग के अधिकारियों के लापरवाही से खाद विक्रेताओं की चांदी काट रहे है।जिससे किसानों को यूरिया के साथ अन्य रासायनिक खाद लेने को दुकानदारों के द्वारा मजबूर किया जा रहा है।जबकि कृषि विभाग के निर्देशक का साफ निर्देश है की किसान को यूरिया के साथ किसान को किसी अन्य खाद सामग्री लेने के लिए दुकानदार बाध्य नहीं कर सकते है।जबकि प्रखंड क्षेत्र के खाद बीज के दुकानदारों के द्वारा यूरिया के पैकेट के साथ अन्य खाद धरले से जबरदस्ती दी जा रही है। यदि कोई किसान यूरिया के साथ जिंक या नैनो यूरिया लेने से इंकार कर रहे है तो दुकानदार उन्हें यूरिया नहीं दे रहे है,और किसान के साथ अभद्र व्यवहार कर रहे है।इतना ही नहीं दुकानदार 266 रुपया के बदले खुलेआम 300 सौ से लेकर 350 रुपया प्रति बोरी यूरिया की बिक्री कर रहे है।मंगलवार को भगवानपुर गांव के किसान देवानंद राम अंसारी खाद बीज के दुकान से यूरिया खरीदने गए थे तो उनसे 350 लेकर एक पैकेट यूरिया के साथ 250 ग्राम जिंक जबरदस्ती दुकानदार के द्वारा दिया गया।ये तो प्रखंड मुख्यालय की बात है।

वही प्रखंड के मोरा,जुआफार, बाबा बाजार,माघर,चोरौली, महामदा सहित अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित खाद बीज के दुकानदारों के द्वारा 350 से लेकर 400 रूपये तक लेकर एक पैकेट यूरिया की बिक्री खुलेआम की जा रही है।लेकिन कृषि विभाग के कर्मी बेपरवाह दिखाई दे रहे है।अभी वर्तमान समय में किसान अपने धान के खेतों में यूरिया डालने के काम लगा है तो वही खाद बीज के दुकानदार उन्हें लूटने में लगे हुए है।वही 350 रूपये लेकर यूरिया के साथ जिंक का पैकेट देने पर अंसारी खाद बीज के दुकानदार बात करने पर बताया की आप अंदर की बात नहीं जानते है।बिना जिंक के यूरिया का बिक्री नहीं किया जा सकता है क्योंकि थोक बिक्रताओ द्वारा यूरिया के साथ जिंक जबरदस्ती भेजी गई है।

इस संबंध में प्रखंड कृषि पदाधिकारी बिरेंद्र मांझी से बात करने पर बताया की दुकानदारों को किसान को 266.50 पैसे लेकर बिना दबाव के यूरिया देना है। यदि कोई दुकानदार यूरिया के साथ अन्य सामग्री देता है तो शिकायत मिलने पर करवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.