बदहाल सरकारी नलकूप कैसे हो सिंचाई, किसान परेशान

बसंतपुर(सीवान)प्रखंड क्षेत्र के सिपाह गांव में सिंचाई के लिए लगे सरकारी नलकूपों में बिजली आपूर्ति नहीं होने से बदहाल हो गए और नहरें सूखी पड़ी है। खराब पड़े हुए नलकूप शासन-प्रशासन की मंशा को बतलाने के लिए काफी है। किसानों ने अपने खेतों में विगत माह में रबी की बुआई कर दी है।हालांकि इस वर्ष रवि फसल की सिचाई आवश्यकता नहीं हुई है।

लेकिन एक सप्ताह से जिस तरह से पछुवा हवा चल रही है उससे रवि फसल की सिंचाई की जरूरत पड़ सकती है।ऐसे में किसानों को रवि की सिचाई के लिए किराए पर पम्पिंग सेट लेकर करना होगा। अधिकतर नलकूपों में कही ट्रांसफार्मर खराब हैं, तो कहीं तार खराब है। कहीं-कहीं मोटरों की भी खराबी है। महंगे खर्च पर सिंचाई से किसानों के लिए कृषि लागत राशि निकाल पाना भी मुश्किल हो रहा है। सरकार की ओर से किसानों के लिए हर प्रयास किए जाने के बावजूद भी अधिकारियों की ओर से अनदेखी के चलते किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

जिसमे उन्हें अपना भला होता नहीं दिखाई दे रहा है। जिससे किसानों को कोई लाभ नहीं मिल पा रहा है। किसान की चिता साफ देखी जा सकती है जहां शासन प्रशासन किसानों के हित में फ्री सिंचाई का एलान करके किसानों की आय दोगुनी करने की बात कर रही है। वहीं अधिकारी सरकार के मंशा पर पानी फेरने में लगे हुए है। सिपाह गांव में लाखों रुपये खर्च नलकूप लगया गया है।लेकिन बिजली कनेक्शन नहीं होने से चालू नहीं हुआ है।जिससे किसानों को सिंचाई के लिए अन्य तरीकों पर निर्भर रहना पड़ता है। पम्पसेट के सहारे खेती करने वाले किसानों को अधिक खर्च होने से आर्थिक कठिनाई से गुजर रहे हैं। बंद पड़े नलकूपों को चालू कराने के लिए लोगों द्वारा सरकारी कार्यालयों का चक्कर लगा चुके हैं। लेकिन कोई भी अधिकारी इसका समाधान नहीं कर रहे है। ग्रामीणों ने बताया कि कभी नलकूप का मोटर खराब तो कभी ट्रांसफार्मर खराब होने के कारण खामियाजा यहां के किसानों को भुगतना पड़ रहा है।वहीं जब इस सम्बन्ध में नलकूप अधिकारी अभियंता से संपर्क करने की कोशिश की गई। लेकिन संपर्क नही हो सका।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.