पंचायतों में बढ़ेगी विकास की रफ्तार, जल्द योगदान देने पंचायत सचिव

पंचायत सचिव नियुक्ति पत्र देते अधिकारी

सीवान: बिहार कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित प्रथम इंटर स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा 2014 में पंचायत सचिव पद के लिए उतीर्ण अभ्यर्थियों को औपबंधिक नियुक्ति पत्र दी गई है। इन लोगों का पहले काउंसलिंग भी कराया गया था। इसमें 139 में से 125 ही उपस्थित हुए थे। जिसके बाद विभागीय प्रक्रिया पूरा करते हुए जिले में 125 नए ग्राम पंचायत सचिव विकास की कमान संभालेंगे। पंचायत सचिवों की कमी के कारण विकास कार्य काफी धीमा चल रहा था। अब इनके योगदान के बाद से जिले की पंचायतों में विकास कार्यों में तेजी आने की संभावना बढ़ गई है। एक पंचायत सचिव के पास पांच से छह पंचायतों का प्रभार था। इससे अब मुक्ति मिलेगी।

प्रशिक्षण के बाद इन सभी को पंचायत भी आवंटित कर दिया जाएगा और अपना विभागीय कार्य भी शुरू कर देंगे। अब नई नियुक्ति हो जाने के पश्चात पंचायत सचिवों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। पंचायत सचिवों की नियुक्ति के उपरांत पंचायत के सभी योजनाओं में तेज प्रगति लाने हेतु सभी नवनियुक्त पंचायत सचिवों को अपने-अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी पारदर्शिता एवं ईमानदारी से करने को कहा गया हैं। बताया गया कि सरकार की कई महत्वपूर्ण योजनाएं पंचायत स्तर पर आम जनों के लाभ हेतु चलाई जा रही हैं। इन सभी पंचायत स्तरीय योजनाओं के कार्यान्वयन एवं अनुश्रवण की जिम्मेवारी पंचायत सचिवों की होती है।

एक सप्ताह के अंदर करें योगदान, धोखाधड़ी या जालसाजी कर परीक्षा में सफलता प्राप्त करने पर होगी कार्रवाई

बताते चले कि नव नियुक्ति सभी पंचायत सचिव को निर्देश दिया गया है कि पत्र निर्गत होने के तिथि से एक सप्ताह के अंदर अपना सभी योगदान समर्पित करें। निर्धारित समय तक योगदान नहीं करने पर समझा जाएगा की उनकी अभिरूची योगदान करने में नहीं है और उनकी नियुक्ति रद्द कर दी जाएगी। यह नियुक्ति पूर्णत: अस्थायी है और बिना पूर्व सूचना के किसी भी समय सेवा समाप्त की जा सकती है। भविष्य में यदि पाया गया कि अभ्यर्थी द्वारा धोखाधड़ी या जालसाजी कर परीक्षा में सफलता प्राप्त की गयी है तो उनकी नियुक्ति रद्द करते हुए उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं आयोग से प्राप्त होने वाले आवेदन पत्र पर चिपकायें गए फोटोग्राफ व हस्ताक्षर के अनुरूप आवेदक का चेहरा एवं हस्ताक्षर नहीं मिलने पर नियुक्ति समाप्त कर दी जाएगी। योगदान के बाद विभाग से प्राप्त होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेना अनिवार्य होगा। योगदान के समय पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्गत आचरण प्रमाण पत्र जमा करना होगा। यह भी कहा गया है कि नवनियुक्त पंचायत सचिवों को शैक्षणिक योग्यता से संबंधित प्रमाण पत्रों एवं अन्य प्रमाण पत्रों का सत्यापन उनके शैक्षणिक संस्थान से प्राप्त होने के पश्चात उनकी नियुक्ति पत्र को संपुष्टि किया जाएगा और वेतन आदि के संबंध में अलग से आदेश निर्गत किया जाएगा।

नव नियुक्त पंचायत सचिवों में ये लोग है शामिल
जिले में पंचायत सचिव के पद पर नियुक्त हुए लोगों में सिपू कुमार, आनंद कुमार, वीरेंद्र कुमार, रवि कुमार, शत्रुध्न कुमार, आमोद कुमार, सुनील कुमार कुशवाहा, राजीव कुमार, शंभू यादव, अंगद कुमार, आनंद कुमार, नीरज कुमार, जितेश कुमार, शशिभूषण कुमार, अमित कुमार, विकास कुमार, राज कुमार, मुकेश कुमार, कुश कुमार, रतन कुमार, पिंटू कुमार, सतीश कुमार नोनिया, सागर कुमार गुप्ता, नवनीत कुमार, विनोद कुमार पंडित, आलोक कुमार मंडल, गौतम कुमार पंडित, रमेश कुमार पंडित, चंदन कुमार, चंद्रभूषण कुमार, दीलिप कुमार, मनीष कुमार, सुजीत कुमार, पुरूषोत्तम कुमार, कुंदन कुमार, राजेश कुमार, रंधीर कुमार, राजनाथ कुमार, सुजीत कुमार, सूर्य प्रकाश रजक, पप्पू कुमार, अनील कुमार दास, रंजन कुमार सुमन, धमेंद्र कुमार दास, कृष्णा चौधरी, पंकज कुमार, संतोष कुमार, बबलू कुमार, विनोद कुमार, अभिनव कुमार, सुधीर कुमार, अजीत चौधरी सहित अन्य शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.