विश्वविद्यालय के विकास में पूर्व छात्रों की सहभागिता अहम- प्रो. आर.सी. कुहाड़

हकेवि में ऑनलाइन आयोजित हुई एलुमनी मीट

महेंद्रगढ़:हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि), महेंद्रगढ़ के सातवें दीक्षांत समारोह से पूर्व शुक्रवार, 26 फरवरी को ऑनलाइन एलुमनी मीट का आयोजन किया गया। जिसमें हकेवि में अध्ययन कर चुके पूर्व छात्रों ने पूरे उत्साह के साथ हिस्सा लिया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने पूर्व छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे विश्वविद्यालय का अभिन्न अंग है और इसके विकास में उनकी सहभागिता बेहद महत्त्वपूर्ण है। वे जिस भी क्षेत्र में कार्यरत है वहां रहकर वे विश्वविद्यालय की बेहतरी में अपना योगदान दे सकते हैं। फिर बात चाहे शैक्षणिक विकास हो, संसाधनों को विकसित करने की हो या फिर रोजगार व स्वरोजगार के अवसर सृजित करने की हो। विश्वविद्यालय के कुलपति ने इस अवसर पर एलुमनी क्लब की ओर से तैयार विश्वविद्यालय के एलुमनी पोर्टल का भी विमोचन किया।
विश्वविद्यालय के एलुमनी क्लब द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कुलपति ने पूर्व छात्रों के साथ मिलकर संस्थान की प्रगति के लिए कार्य करने पर जोर दिया और कहा कि पूर्व छात्र विश्वविद्यालय के विकास में भागीदार बने। उन्होंने कहा कि देश-दुनिया में ऐसे अनेकों संस्थान हमारे समक्ष उपलब्ध हैं जो अपने पूर्व छात्रों के प्रयासों से सफलता व विकास के नये आयामों को प्राप्त कर रहे हैं। कुलपति ने इस अवसर पर एलुमनी अनुदान कोष की परिकल्पना पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि सच्चे अर्थों में देश-दुनिया में हमारे विद्यार्थी ही हमारे असली ब्रांड अम्बेसडर है। कुलपति ने इस अवसर पर विश्वविद्यालय द्वारा बीते एक साल में किए गए उल्लेखनीय कार्यों की जानकारी भी पूर्व छात्रों को दी।
कार्यक्रम का आरम्भ कुलगीत के साथ हुआ। इसके पश्चात छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. दिनेश गुप्ता ने विद्यार्थियों को सम्बोधित किया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रों ने अपने अनुभव साझा किए। इनमें मधुस्मिता, उमेश, निरूपमा श्रीवास्तव, श्रेयांशी सिन्हा, डॉ. मेहताब, डॉ. कृष्णा आर्य, डॉ. रेखा के नाम प्रमुख रहे। कार्यक्रम में 200 से अधिक पूर्व छात्रों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम के अंत में एलुमनी क्लब के संयोजक डॉ. प्रमोद कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया और इस आयोजन के लिए एलुमनी क्लब के सदस्य डॉ. रंजन अनेजा, डॉ. हरीश कुमार, डॉ. सुमन व डॉ. सुदीप सहित सभी पूर्व छात्रों व कार्यक्रम में शामिल विश्वविद्यालय के शिक्षकों व विद्यार्थियों का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *