किशनगंज में आयुष्मान जन आरोग्य योजना को बेहतर क्रियान्वयन के लिए आयुष्मान मित्रों को दिया गया प्रशिक्षण

जिला कार्यान्वयन इकाई द्वारा प्रशिक्षण व एचएसएससी द्वारा मूल्यांकन किया गया
जिले में 10.40 लाख से अधिक बनाये जाने हैं आयुष्मान कार्ड:

किशनगंज(बिहार)जिले में गरीबों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के लाभ को लोगों तक पहुंचाने के लिए आयुष्मान जिला कार्यान्वयन इकाई द्वारा आयुष्मान आरोग्यमित्रों को प्रशिक्षण दिया गया। जरूरतमंदों तक इस योजना का लाभ पहुंचाने के लिए जिला स्तर पर तथा प्रधानमंत्री आरोग्य मित्रों को प्रशिक्षण जिला स्वास्थ्य समिति के प्रांगन में आईटी प्रबंधक सह डीपीसी कुमार पंकज कुमार तथा जिला मूल्यांकन एवं अनुश्रवन पदाधिकारी शशि भूषण के द्वारा दिया गया। प्रशिक्षण का उद्देश्य जिला स्तर पर कर्मियों को कुशल बनाना है। इसी संदर्भ में जिले से 12 आरोग्य मित्रों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के उपरांत हेल्थ केयर सेक्टर स्किल काउंसिल (एचएसएससी) द्वारा मूल्यांकन किया गया। जिसमें सफल प्रतिभागियों को एचएसएससी द्वारा प्रमाण पत्र दिया जायगा। प्रशिक्षण के लिए जिला आईटी प्रबंधक द्वारा व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है जिसमें सभी प्रतिभागियों को जोड़ा गया है। इस व्हाट्सएप ग्रुप में प्रतिभागियों को प्रशिक्षण से संबंधित लर्निंग मैटेरियल उपलब्ध कराया गया। किसी प्रकार की समस्या आने पर इसका समाधान ग्रुप के माध्यम से प्रतिभगियों को किया जायगा। इस बाबत डीपीसी पंकज कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) के निर्देशानुसार जिला में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत सूचीबद्ध सरकारी एवं निजी अस्पतालों में कार्यरत सभी प्रधानमंत्री आरोग्य मित्रों का प्रशिक्षण एवं हेल्थकेयर सेक्टर स्किल काउंसिल द्वारा मूल्यांकन किया गया।

पात्र लाभार्थियों का बनता है गोल्डन कार्ड:
केंद्र सरकार ने सितंबर 2018 को गरीबी से परेशान लोगों के नि:शुल्क उपचार के लिए आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की थी। इसमें सोशल इकनॉमिक कॉस्ट सेंसेज 2011 (सेक डेटा) के आधार पर गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वालों को लाभ दिलाने के लिए पात्र माना गया था। बीओसीडब्ल्यू के पंजीकृत मजदूरों का भी आयुष्मान कार्ड बनाया जाना है।ज्ञात हो कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत एस.ई.सी.सी. के वैसे लाभुक जो गरीबी रेखा के नीचे हैं, अमूमन सभी राशन कार्डधारी इसके पात्र हैं। उन्हें केवल अपना आधार कार्ड,अपना राशन कार्ड और अपने मोबाईल के साथ किसी भी वसुधा केन्द्र या यु.टी.आई. सेन्टर पर जाना है, उनके राशन कार्ड के नीचे अंकित 24 अंक जो कि उपरोक्त वेबसाइट पर डालकर उनकी पात्रता की जाँच की जा सकती है।

सिविल सर्जन डॉ कौशल किशोर ने बताया की आयुष्मान कार्ड परिवार के सभी लोगों का अलग-अलग बनेगा। यदि आयुष्मान कार्डधारी किसी गंभीर बीमारी या वैसी बीमारी का ईलाज कराना चाहता हैं, जिसके लिए अस्पताल में भर्ती होना आवश्यक है, तो वे जिले के 09 सरकारी एवं 03 सूचीबद्ध गैर सरकारी अस्पताल में से किसी भी अस्पताल में जाकर निःशुल्क 05 लाख रूपये तक का ईलाज करा सकते हैं।
•सभी प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र
•सदर अस्पताल किशनगंज
•माता गुजरी लायंस सेवा केंद्र, किशनगंज
•रेडियेंट मल्टी स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल
•जेड ए नर्सिंग होम
सूचीबद्ध हैं।सभी सरकारी अस्पतालों में भी योजना का लाभ दिया जा रहा है।साथ ही योग्य निजी अस्पतालों को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया भी की जा रही है।
जिले में 10.40 लाख से अधिक बनाये जाने हैं आयुष्मान कार्ड
जिला कार्यक्रम समन्वयक आयुष्मान पंकज कुमार ने बताया जिले के ग्रामीण इलाको में लगभग 09 लाख 40 हजार लाभुको में 1 लाख 60 हजार लाभुकों को आयुष्मान कार्ड निर्गत किया गया है। वही शहरी क्षेत्र के जिसमें से लगभग 98 हजार लाभुको में से 16 हजार पात्र लाभुकों को आयुष्मान भारत से संबंधित कार्ड का निर्माण किया जा चुका है। जिले में लगभग 9195 लोगो ने आयुष्मान भारत योजना का लाभ ले चुके है।
लिंक के माध्यम से जान सकते हैं अपनी पात्रता:
जिला कार्यक्रम समन्वयक आयुष्मान पंकज कुमार ने बताया लोगों को आयुष्मान कार्ड निर्माण हेतु अपनी पात्रता जानना बहुत जरूरी है। इसके लिए वे http://aapkedwarayushman.pmjay.gov.in/AapkeDwar लिंक पर जाकर कोई भी व्यक्ति आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना में अपनी पात्रता जान सकता है। पात्रता की जानकारी के लिए वेबसाइट पर देखा जा सकता है या टोल फ्री नंबर-104/14555 पर निःशुल्क कॉल कर जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
स्वतः हो जाता कार्ड का नवीकरण
इस योजना की विशेषता यह है कि उनके अस्पताल में भर्ती होने के 03 दिन पूर्व और डिस्चार्ज होने के 15 दिन बाद तक का ईलाज और दवाईयों पर हुए खर्च भी इसमें शामिल किया जाता है। इस कार्ड की विशेषता यह है कि प्रत्येक वर्ष 01 अप्रैल को इस कार्ड का स्वतः नवीकरण हो जाता है और इस कार्ड का लाभ लाभार्थी जीवन भर उठा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.