सहरसा में आयुष चिकित्सकों को दिया गया गर्भनिरोधक उपकरणों का प्रशिक्षण

दीघर्कालिक सुरक्षा प्रदान करते हैं आईयूडी:
विश्वसनीय एवं दुष्परिणाम रहित है आईयूडी का उपयोग:

सहरसा(बिहार)जिले सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में प्रसव सुविधिाओं के विकास एवं कोरोना काल में प्रसव संबंधी सेवाओं में आशातीत बढ़ोत्तरी को देखते हुए सरकार द्वारा प्रसवोत्तर एवं गर्भपात उपरांत अंतर्गर्भाशीय गर्भनिरोधक उपकरण संस्थापन (आईयूसीडी) के क्रियान्वयन पर बल दिया जा रहा है। ज्ञात हो कि इस प्रकार के गर्भनिरोधक उपकरण संस्थापन की सुविधाऐं अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टरों पर प्रदान किया जाना है। इसके लिए प्रसवोपरान्त एवं गर्भपात उपरान्त अंतर्गर्भाशीय गर्भनिरोधक उपकरण संस्थापन का प्रशिक्षण सेवा प्रदाताओं को प्रदान करना आवश्यक था। ताकि बड़ी संख्या में प्रशिक्षित सेवा प्रदाताओं के माध्यम से अधिक से अधिक संख्या में लाभार्थियों को इस प्रकार की सुविधा मिलने पाये।

दीर्घकालिक सुरक्षा प्रदान करते हैं आईयूसीडी:
क्षेत्रीय आशा समन्वयक अविनाश कुमार ने बताया की आयुष चिकित्सकों को अंतर्गर्भाशीय गर्भनिरोधक उपकरण संस्थापन (आईयूसीडी)संबंधित प्रशिक्षण चिकित्सक डा. विभा रानी के द्वारा दिया जा रहा है। चिकित्सक डा. विभा रानी के द्वारा बताया गया की आईयूसीडी गर्भावस्था को रोकने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है और ये सालों तक चलते हैं।

आप इसे प्राप्त कर सकते हैं। इसे भूल सकते हैं और फिर भी सुरक्षित रह सकते।आईयूडी आपको गर्भावस्था के खिलाफ दीर्घकालिक सुरक्षा प्रदान करते हैं। वे 99% से अधिक प्रभावी हैं। वे नसबंदी और जन्म नियंत्रण प्रत्यारोपण के साथ साथ काम करते हैं। आईयूसीडी सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है। जिसे आप प्राप्त कर सकते हैं। आप इसका उपयोग करना नहीं भूल सकते या इसे गलत तरीके से उपयोग नहीं कर सकते। आईयूसीडी सेट ईट एंड फॉरगेट ईट जन्म नियंत्रण है। एक बार जब आपका आईयूसीडी अंदर आ जाता है तो आपको मुश्किल से इसके बारे में सोचना पड़ता है। यह तब तक काम करता है जब तक यह समाप्त नहीं हो जाता या आप इसे बाहर नहीं निकाल लेते। साथ ही आप किस प्रकार की गर्भावस्था के आधार पर 3 से 12 साल तक गर्भधारण से सुरक्षित रहती हैं। यदि आप तय करती हैं कि आप गर्भवती होना चाहती हैं तो आप इसे किसी भी समय निकाल सकती हैं। आईयूसीडी आपकी प्रजनन क्षमता को प्रभावित नहीं करेगा या भविष्य में गर्भवती होने को कठिन नहीं बनाएगा। वास्तव में आपका आईयूडी समाप्त होते ही आपका गर्भवती होना संभव है।

विश्वसनीय एवं दुष्परिणाम रहित है आईयूसीडी का उपयोग:
इसके उपयोग के बारे में महिलाओं को जागरूक एवं प्रोत्साहित करने की आवश्यकता पर बल देते हुए क्षेत्रीय आशा समन्वयक अविनाश कुमार ने बताया गर्भनिरोधन के लिए समान्य तौर पर उपयोग में लायी जानेवाली गोलियों की तुलना में आईयूसीडी ज्यादा विश्वसनीय एवं दुष्परिणम रहित हैं। इसलिए महिलाओं को चाहिए कि वे आगे आयें एवं आईयूसीडी का उपयोग करते हुए अपने परिवार को नियोजित करने में अपनी अहम भूमिका निभायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.