देश मे मॉब लिंचिंग की घटना नेताओं की देन है पप्पू यादव

भगवानपुर हाट(सिवान)जन अधिकार पार्टी(लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने सारण जिले बनियापुर थाना क्षेत्र के पिठौरी गांव में बीते शुक्रवार की सुबह के चार बजे मॉब लिंचिंग में तीन लोगों को चोरी के आरोप लगा कर स्थानीय लोगों द्वारा मौत के घाट उतार दिए गए थे। इन्ही तीनो मृतक के परिजनों से मिलकर सांत्वना दिया।

इसके बाद मोतिहारी में बाढ़ पीड़ितों से मिलने जाने के क्रम में भगवानपुर हाट में पूर्व प्रखंड प्रमुख रामजी चौधरी के आवास पर प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि वर्तमान समय में देश की हालत पर चर्चा करते हुए कहा कि देश आपसी उन्मांद के दौर से गुजर रहा है। इस आपसी उन्माद को बिगाड़ने में सत्ता पक्ष व विपक्ष दोने शामिल है।राजनीतिक लोगों के लिए विकास, इंसानियत, मानवता,राष्ट्र,किसान व युवाओं से कोई मतलब नहीं है।

उन्हें तो केवल सत्ता सुख की चिंता है। देश में लम्बे समय से एक प्रचलन चल रहा है जाति धर्म के नाम पर लोगों को आपस मे लड़ा कर सत्ता में बने रहे। वही पैगम्बर की घटना की चर्चा करते हुए कहा कि  तीनों लोगों को साजिस के तहत मौत का घाट उतारा गया। चुकी किसी ने फोन करके बुलाया था। जो व्यक्ति फोन करके बुलाया था उसकी फोन की जांच होनी चाहिए। मृतक के गाड़ी में कोई जानवर नहीं थे। उन्होंने कहा कि इस मॉब लिंचीग में विजय नाम के किसी शख्स का नाम आ रहा है जिसने मोबाइल से बात कर तीनों लोगो को बुलाया था इसकी मोबाइल की जांच कर उसके खिलाफ मुकदमा दायर किया जाए।

उन्हीने पीड़ित परिजनों के परिवार को पार्टी के तरफ से 25 हजार रुपया नगद सहयोग के रूप में दिया व सीएम नीतीश कुमार से मांग किया कि पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी व दस दस लाख रुपया मुआवजा के तौर पर दे।मोदी जी बच्चों के मरने पर ट्वीट नहीं करते है लेकिन शिखर धवन चोटिल होता है तो मोदी जी ट्विट करते है। ये मोदी जी क्या है ।वही बिहार में बाढ़ की चर्चा करते हुए कहा कि बाढ़ से बचाव के लिए नदियों के बांध के निर्माण पर 535 हजार करोड़ रुपया खर्च किया गया है ।

लेकिन बाढ़ पर नियंत्रण नहीं हुआ।यह बिहार की बाढ़ मानवीय बाढ़ है,यह आपदा नहीं है। वही विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि बिहार में ट्विटर विपक्ष है। जो परिवार का नहीं हुआ वह किसी का नहीं होगा।उन्होंने कहा कि मैं सदन में चर्चा के दौरान कहा था आप मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून बनाए या इसको कानूनी जमा पहना कर संविधान को खत्म कर दे । क्योकि देश मे जहाँ भी मॉब लिंचिंग होता है वहा नेता,अधिकारी,कार्पोरेट का बेटा नहीं मरता है। मॉब लिंचिंग में गरीब व दलित का बेटा मरता है।

नेता घटना को घटित करवाता है।सदन में चर्चा के दौरान कहा था कि देश मे वन नेशन वन चुनाव नहीं चाहिए,बल्कि देश को वन नेशन वन हेल्थ,वन नेशन वन इकोनॉमी, वन नेशन वन जस्टिस चाहिए। जो नेता समाज मे उन्मांद पैदा करता है। उसे किसी प्रकार की सरकारी सुविधा नहीं मिलना चाहिए व उनके परिवार के किसी सदस्य को वार्ड तक के चुनाव लड़ने से वंचित करना चाहिए।इस प्रेस वार्ता के समय पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, आरती साहनी महिला जिलाध्यक्ष छपरा, राजेन्द्र प्रसाद राय जिलाध्यक्ष छपरा, दिलीप कुमार राम प्रदेश महासचिव, अमर आनन्द  तरैया विधानसभा प्रभारी,राजद नेता नागेंद्र उपाध्याय उर्फ डलडल बाबा, धर्मेंद्र चौधरी, मुन्ना चौधरी,जितेंद्र कुमार,विरेंद्र चौधरी सहित सैकड़ों लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.