हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय की डॉ. मनीषा पांडे दुनिया के टॉप 2% वैज्ञानिकों में शामिल

महेंद्रगढ़:हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ के फार्मास्युटिकल साइंसेज विभाग में अध्यापनरत सहायक आचार्य डॉ. मनीषा पांडे का नाम स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, यूएसए द्वारा दुनिया के शीर्ष 2% वैज्ञानिकों में शामिल किया गया है। वर्ष 2022 के लिए जारी इस सूची को स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित किया है और अंतर्राष्ट्रीय मंच पर डॉ. मनीषा की इस उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई देते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने कहा कि उनका यह प्रदर्शन अंतर्राष्ट्रीय मंच पर विश्वविद्यालय व उससे जुड़े सहभागियों के उल्लेखनीय योगदान का परिचायक है।
स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय की ओर से जारी यह सूची सी-स्कोर (स्व-उद्धरण के साथ और बिना) या उप-क्षेत्र में 2% या उससे अधिक के प्रतिशत रैंक के आधार पर शीर्ष 100,000 वैज्ञानिकों पर आधारित है। यह संस्करण (4) 1 सितंबर, 2022, स्कोपस के स्नैपशॉट पर आधारित है, जिसे उद्धरण वर्ष 2021 के अंत तक अपडेट किया गया है। डॉ. मनीषा को यह स्थान लगातार दूसरे वर्ष प्राप्त हुआ है बीते साल भी वे इस सूची का हिस्सा बनी थी। यहां बता दे कि डॉ. मनीषा नोवेल ड्रग डिलीवरी सिस्टम (एनडीडीएस) के क्षेत्र में अनुसंधान में शामिल रही हैं। अब तक, उन्होंने विभिन्न अनुक्रमित पत्रिकाओं में 90 से अधिक शोध लेख प्रकाशित किए हैं।
डॉ. मनीषा ने बताया कि उन्होंने पीएच.डी. मलेशिया के राष्ट्रीय विश्वविद्यालय से प्राप्त की और फिर अंतर्राष्ट्रीय चिकित्सा विश्वविद्यालय, मलेशिया में व्याख्याता के रूप में काम भी किया। डॉ. मनीषा ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने सभी सहयोगियों को देते हुए कहा कि उनकी प्रेरणा, सहयोग व उनपर विश्वास का ही परिणाम है कि वो लगातार शिक्षण व शोध के क्षेत्र में अपना योगदान दे पा रही हैं। स्कूल ऑफ इंटरडिसिप्लिनरी एंड एप्लाइड साइंसेज की अधिष्ठाता प्रो. नीलम सांगवान ने डॉ. मनीषा की सराहना करते हुए उन्हें बधाई दी। फार्मास्युटिकल साइंसेज विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. दिनेश कुमार सहित संकाय के अन्य सदस्य डॉ. सुमित कुमार, डॉ. तरुण कुमार और डॉ. अशोक जांगड़ा ने भी इस अद्भुत उपलब्धि पर डॉ. मनीषा को बधाई और सराहना की।