महात्मा गांधी केविवि के मीडिया अध्ययन विभाग में इस वर्ष से स्नातक ‘पत्रकारिता एवं जनसंचार’ पाठ्यक्रम प्रारम्भ

विश्वविद्यालय में यूजी, पीजी, एम.फिल. और पी-एच. डी. समेत कुल 67 प्रोग्राम में प्रवेश हेतु आवेदन शुरू

मोतिहारी(बिहार)महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय,मोतिहारी, बिहार में सत्र 2020-21 के लिए प्रवेश प्रक्रिया प्रारम्भ हो गई है। 07 जुलाई, 2010 से ऑनलाइन एप्लीकेशन फाॅर्म भरने के लिए विश्वविद्यालय का पोर्टल शुरू है । विश्वविद्यालय में यूजी, पीजी, एमफिल और पी-एच.डी. समेत कुल 67 प्रोग्राम में एडमिशन के लिए 31 जुलाई , 2020 तक ऑनलाइन फाॅर्म भरे जा सकते हैं।

महात्मा गाँधी केंद्रीय विश्वविद्यालय, मोतिहारी, बिहार का मीडिया अध्ययन विभाग ऐसे सभी छात्रों के लिए एक सुनहरा अवसर प्रदान कर रहा है जो पत्रकारिता और जनसंचार की पढ़ाई करना चाहते हैं या जो मीडिया स्टडीज से जुड़े विषय/उपविषय पर शोध कर अकादमिक जगत में अपना भविष्य उज्जवल करना चाहते हैं। दूरदर्शी एवं कुशल अकादमिक एवं प्रशासनिक कौशल से परिपूर्ण कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा के कुशल मार्गदर्शन में विश्वविद्यालय के साथ मीडिया अध्ययन विभाग उच्च शिक्षा की उत्कृष्टता का केंद्र बनने के लिए प्रतिबद्ध है। मीडिया अध्ययन विभाग का उद्देश्य अपने छात्रों के बीच उत्कृष्ट और प्रभावी संचार कौशल का निर्माण करना तथा पत्रकारिता और पत्रकारिता शिक्षा में नवाचार का प्रयोग कर समाज को एक बेहतर दिशा देना है। मीडिया अध्ययन विभाग में पी-एच. डी., एम. फिल. और एम. ए. पत्रकारित एवं जनसंचार के साथ इस वर्ष से एक नया पाठ्यक्रम बी. ए. पत्रकारिता एवं जनसंचार प्रारम्भ हो रहा है जो इंटरमीडिएट पास विद्यार्थियों के लिए बेहतर विकल्प हैं।
महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय का मीडिया अध्ययन विभाग छात्रों में पत्रकारिता शिक्षा का सैद्धांतिक और तकनीकी कौशल दोनों विकसित करने को दृढ़ संकल्पित है और ज्ञान की वृद्धि के लिए शिक्षाविदों, विद्वानों, अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के विषय विशेषज्ञों और पेशेवरों को नियमित रूप से व्याख्यान हेतु आमंत्रित करता रहता है। साथ ही साथ मीडिया अध्ययन विभाग समय-समय पर छात्रों के व्यावहारिक ज्ञान के लिए फील्डवर्क, वर्कशॉप, सेमिनार, सिम्पोजियम, इनोवेटिव रिसर्च एक्टिविटीज, ट्रेनिंग टूर आदि का आयोजन करता है तथा व्यावहारिक प्रशिक्षण के तहत विभाग के छात्र समाचार पत्र-पत्रिकाओं का संपादन और प्रकाशन का कार्य गुणवत्तापूर्ण ढंग से सफलतापूर्वक कर रहे हैं।

वर्तमान में मीडिया अध्ययन विभाग मोतिहारी के बलुआ चौक स्थिति दीन दयाल उपाध्याय परिसर से संचालित हो रहा है। विभाग में यूजी, पीजी, एमफिल एवं पीएचडी कोर्स संचालन के लिए प्रो. (डॉ.) अरुण कुमार भगत,अधिष्ठाता एवं अध्यक्ष, के नेतृत्व में दक्ष, विशेषज्ञ और असाधारण शिक्षण कौशल से सुसज्जित अन्य छः योग्य शिक्षकों की एक पूरी टीम हैं।

मीडिया अध्ययन विभाग के दक्ष प्राध्यापकों की सूची में प्रो अरुण कुमार भगत, अध्यक्ष एवं अधिष्ठाता हैं जो, प्रिंट मीडिया, मीडिया नैतिकता और कानून, भारत में पत्रकारिता का इतिहास, भारतीय संचार प्रणाली, हिंदी पत्रकारिता में प्रौद्योगिकीय उन्नति, राजनीतिक संचार, हिंदी साहित्य और पत्रकारिता, भारत के विभिन्न आंदोलनों जैसे सम्पूर्ण क्रांति, आपातकाल, अन्ना हजारे आंदोलन, रामजन्म भूमि आंदोलन जैसे विषय के विशेषज्ञ हैं। एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. प्रशांत कुमार प्रसारण पत्रकारिता, विज्ञापन और जनसंपर्क के विशेषज्ञ हैं। एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अंजनी कुमार झा, ग्रामीण और पर्यावरण संचार के विशेषज्ञ हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. सुनील दीपक घोड़के मीडिया नैतिकता और कानून, ग्रामीण संचार, मीडिया प्रबंधन और भारत में पत्रकारिता का इतिहास जैसे विषयों के विशेषज्ञ हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. साकेत रमण, संचार और मीडिया अनुसंधान, राजनीतिक और सामरिक संचार, भारतीय संचार दर्शन, ब्रांड संचार और प्रिंट मीडिया के विशेषज्ञ हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ.परमात्मा कुमार मिश्र, प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (रेडियो, टीवी एवं सिनेमा), जनसंपर्क और मीडिया प्रबंधन के विशेषज्ञ हैं। साथ ही असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. उमा यादव विकास संचार की विशेषज्ञ हैं।

जहां तक प्रवेश हेतु सीटों की बात हैं तो महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के मीडिया अध्ययन विभाग में शैक्षणिक सत्र 2020-21 में नामांकन हेतु पी-एच. डी. में 20 सीट , एम. फिल में 10 सीट, एम. ए. (पत्रकारिता एवं जनसंचार) में 33 सीट और बी. ए. (पत्रकारिता एवं जनसंचार) में 33 सीट हैं , जिसके लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू है। आवेदन हेतु महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के वेबसाइट पर ऑनलाइन लिंक उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.