आंगनबाड़ी केंद्रों पर आरोग्य दिवस का किया गया आयोजन

बच्चों के स्वास्थ्य का किया गया परीक्षण

बच्चो के टीकाकरण के साथ-साथ माँ को परिवार नियोजन की भी मिली जानकारी

परिवार नियोजन सामग्री का भी किया गया वितरण

कोविड-19 के बचाव का दिया गया सन्देश

पूर्णियाँ(बिहार)जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर शुक्रवार को आरोग्य दिवस का आयोजन किया गया. इस अवसर पर बच्चों को टीका लगवाने आने वाली महिलाओं को परिवार नियोजन को लेकर जागरूक किया गया व सम्बंधित सामग्री का भी वितरण किया गया. एएनएम के द्वारा महिलाओं को परिवार नियोजन के स्थायी तथा अस्थायी साधनों के बारे में जानकारी दी गयी. आम लोगों को जागरूक करने के मकसद से स्वास्थ्य विभाग अथक प्रयास कर रहा है. इसी कड़ी में ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस यानि आरोग्य दिवस की भूमिका भी अहम है. जिसमें टीकाकरण एवं प्रसव पूर्व जाँच के अलावा परिवार नियोजन कार्यक्रमों पर महिलाओं को सलाह दिया जाता है. आरोग्य दिवस पर परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों पर बेहतर परामर्श की सुविधा उपलब्ध कराने में स्वास्थ्य विभाग के साथ केयर इंडिया भी सहयोग कर रहा है. आरोग्य दिवस के दौरान कोरोना से बचाव की भी जानकारी दी गई और सोशल डिस्टेनसिंग का भी ध्यान रखा गया.

परिवार नियोजन के साधनों की उपलब्ध कराई गई सामग्री व दी गई सम्बंधित जानकारी :
केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक उत्पल गुप्ता ने बताया
हर बुधवार व शुक्रवार को आंगनबाड़ी केंद्रों पर आरोग्य दिवस मनाया जाता है. आज हुए आरोग्य दिवस में भी परिवार नियोजन स्थायी एवं अस्थायी साधनों के इस्तेमाल में बढ़ोतरी के लिए आरोग्य दिवस पर आने वाली महिलाओं को एएनएम के द्वारा परिवार नियोजन के साधनों के बारे में जानकारी दी गई व सम्बंधित सामग्री का वितरण भी किया गया. गर्भवती माताओं को प्रसव के बाद परिवार नियोजन के बास्केट ऑफ़ चॉइस के बारे में एएनएम द्वारा विस्तार से जानकारी दी गई. धात्री माताओं को भी बच्चों में अंतराल रखने की सलाह के साथ उपलब्ध साधनों के बारे में भी बताया गया. इन कार्यों में हमेशा आशा एवं आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा सहयोग किया जाता है. आरोग्य दिवस में करवाये गए इन प्रयासों के कारण पहले की तुलना बहुत बदलाव देखने को मिल रहे हैं.

नवीन गर्भनिरोधक की दी गई जानकारी :
नवीन गर्भनिरोधक जैसे ‘अंतरा एवं ‘छाया’ के इस्तेमाल सम्बन्धी जानकारी भी आरोग्य दिवस में उपस्थित महिलाओं को दी गई. उन्हें बताया गया कि ‘अंतरा’ गर्भ निरोधक इंजेक्शन का इस्तेमाल एक या दो बच्चों के बाद गर्भ में अंतर रखने के लिए दिया जाता है. साल में इंजेक्शन का चार डोज दिया जाता है. वहीं ‘छाया’ गर्भ निरोधक एक साप्ताहिक टेबलेट है. इसे सप्ताह में एक बार सेवन करना होता है.

कोविड-19 से बचाव का भी दिया गया सन्देश :
आरोग्य दिवस में उपस्थित लोगों को कोविड-19 से बचाव के लिए भी संदेश दिया गया. उन्हें ऐसे समय में साफ-सफाई पर जोर देने, अफवाहों पर ध्यान न देने, मास्क व ग्लब्स का इस्तेमाल करने, लोगों से सोशल डिस्टेनसिंग बना कर रखने, बेवजह बाहर नहीं निकलने आदि की भी जानकारी दी गई. आरोग्य दिवस के दौरान सोशल डिस्टेनसिंग का भी ध्यान रखा गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.