गर्भवती महिलाओं को प्रसव के दौरान विशेष देखभाल की आवश्यकता

सावधानी बरतने से खुद के स्वास्थ्य के साथ ही नवजात शिशु को भी मिलेगा फायदा
• आयरन युक्त आहार के लेने से दूर होगी शरीर में खून की कमी
• किलकारी एप्प से ले सकते हैं गर्भवती महिला व नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य की जानकारी

पूर्णियाँ(बिहार)गर्भवती महिलाओं को प्रसव के दौरान अपने सेहत पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है. इससे न केवल उनका बल्कि उनके गर्भस्थ शिशु भी असर पड़ता है. इसलिए हर गर्भवती महिलाओं को प्रसव के दौरान अपने स्वास्थ्य का विशेष रूप से खयाल रखना जरूरी है. ऐसे समय में उन्हें प्रसव पूर्व नियमित जांच करवाना चाहिए. गर्भावस्था के समय महिलाओं को अपने पोषण पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए. आयरन युक्त आहार का सेवन करने से गर्भवती महिलाओं में रक्त की कमी दूर होती है. इसलिए ऐसे आहार का निश्चित रूप से सेवन करना चाहिए. सावधानीयां बरतने से गर्भवती महिला खुद के साथ-साथ होने वाले शिशु के स्वास्थ्य का भी ध्यान रख सकेंगी.

खून की कमी से निपटने के लिए करें आयरन युक्त आहार का सेवन :

महिला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अनुराधा सिन्हा बताती हैं महिलाओं को गर्भधारण करने से पूर्व ही अपने स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहना चाहिए. महिलाओं में प्रत्येक माह माहवारी होने से शरीर में खून की कमी का खतरा रहता है. इससे निपटने के लिए गर्भावस्था के पूर्व से ही महिलाओं को आयरन युक्त आहार का सेवन करना चाहिए. इसके साथ ही आयरन फोलिक एसिड की गोलियां भी लेना चाहिए. यह महिलाओं को खून की कमी दूर करने में सहायक होता है. गर्भावस्था के दौरान नियमित तौर पर प्रसव पूर्व जांच जरूरी होता है. जांच के साथ ही नियमित तौर से टीका का लगवाना जरूरी है. इसके लिए आंगनवाड़ी सेविका व आशा की मदद ली जा सकती है. आयरन युक्त आहार के रूप में पालक,चुकंदर,आंवला,जामुन, अनार,निम्बू, पिस्ता किशमिश इत्यादि का उपयोग करना चाहिए. इसके अलावा सभी अस्पतालों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में प्रत्येक माह की 9 तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के द्वारा गर्भवती महिलाओं की सभी प्रकार की जांच भी की जाती है. डॉ अनुराधा सिन्हा ने बताया कि वह स्वयं भी प्रत्येक माह 9 तारीख को केनगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इस अभियान को आगे बढ़ाने में मदद कर रही है.

जानकारी के लिए मददगार है किलकारी एप्प :


स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा गर्भवती महिलाओं व शिशुओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए मोबाईल एप्प किलकारी की शुरुआत की गई है. इस एप्पलीकेशन द्वारा कोई भी गर्भवती महिलाओं एवं एक साल तक के शिशुओं के स्वास्थ्य सम्बंधित हर तरह की जानकारी ली जा सकती है. इसमें प्रसव पूर्व जांच, संस्थागत प्रसव, शिशु की देखभाल, टीकाकरण सम्बंधित सभी जानकारी गर्भवती महिला या उनके अभिभावक के रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर पर कॉल या मैसेज द्वारा दी जाती है. इसके लिए गर्भवती महिला का पूरा ब्यौरा जिला एमसीटीएस पोर्टल पर दर्ज कराना जरूरी है.

प्रसव-पूर्व देखभाल के प्रति जरूरी :

सभी गर्भवती महिलाओं को प्रसव-पूर्व देखभाल को लेकर सावधान रहने की जरूरत है. इसके लिए इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है :
• रूटीन चेक-अप के लिए नियमित रूप से अस्पतालों जाएं व डॉक्टर से सलाह लें.
• गर्भावस्था के दौरान जटिलता होने की दशा में चिकित्सक परामर्श लें एवं सुविधा अनुसार चिकित्सक से जरूर मिलें.
• खान-पान पर विशेष ध्यान दें. आहार में प्रोटीन, विटामिन एवं सूक्ष्म पोषक तत्वों को शामिल करें.
• आटोमेटिक ब्लड प्रेशर मशीन से नियमित तौर पर घर पर ही रक्तचाप रिकॉर्ड करें.
• घर पर या आंगनवाड़ी केंद्र में अपना वजन का रिकॉर्ड रखें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.