कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की जानकारी के लिए सेविका और आशा कर्मियों द्वारा किया जा रहा सर्वेक्षण

  • घर-घर जाकर किया जा रहा है सर्वे
  • सभी संदिग्ध व्यक्तियों की हो रही जांच
  • स्थानीय लोगों का भी लिया जा रहा है सहयोग

पूर्णियाँ 02 मई जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्ति की जांच के लिए आंगनबाड़ी सेविकाओं एवं आशा कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया जा रहा है. इस दौरान जिले में बाहर राज्यों से या विदेशों से आए से आए सभी लोगों की जानकारी इकठ्ठी की जा रही है. इस अभियान में पल्स पोलियो की तर्ज पर डोर टू डोर सर्वे किया जा रहा है. इनके द्वारा 01 मई से 05 मई तक गांव के प्रत्येक घर में जाकर कोरोना के तीन प्रमुख लक्षण सर्दी, सांस लेने मे तकलीफ और खांसी के मरीजों की खोज करेंगी. इस तरह के लक्षण पाये जाने वाले लोगों का सैंपल जांच के लिए लिया जाएगा. इस दौरान 5 दिनों तक सभी गांवों के प्रत्येक घर को तलाशा जाएगा. वहीं इसके आगे के तीन 3 दिनों में फिर से इन जगहों का सर्वे किया जाएगा.

वार्ड से लेकर जिला स्तर तक बनाई गई है टीम :
घर-घर सर्वे के लिए वार्ड स्तर से लेकर जिला स्तर तक टीम बनाई गई है. स्थानीय स्तर पर आंगनबाड़ी सेविकाएँ और आशा कर्मियों के साथ एएनएम घर-घर जाकर सर्वे कर रही हैं. इनके निरक्षण के लिए एलएस को सुपरवाइजर बनाया गया है. इसके द्वारा सभी जानकारी जिला स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को उपलब्ध कराई जाएगी.

पल्स-पोलियो अभियान के तर्ज पर चलाया जा रहा अभियान :
घर-घर सर्वे अभियान पल्स पोलियो अभियान के तर्ज पर चलाया जा रहा है. इस 5 दिवसीय अभियान के दौरान सेविकाओं और आशा कर्मियों द्वारा लोगों के घरों में जाकर संदिग्ध व्यक्तियों की खोज की जाएगी. उनके द्वारा लोगों के घरों में जाकर उपस्थित सदस्यों की, 01 मार्च के बाद बाहर से व्यक्तियों की, परिवार में उपस्थित बीमार लोगों की जानकारी उपलब्ध करायी जा रही है. सर्वे के दौरान प्रत्येक घर में हाउस मार्किंग की जायेगी. संदिग्ध पाये गये व्यक्तियों के घरों पर मार्किंग किया जायेगा.

स्थानीय लोगों का भी लिया जा रहा सहयोग :
सर्वे कार्य में स्थानीय लोगों का भी सहयोग लिया जा रहा है. स्थानीय लोगों को क्षेत्र में हो रही चीजों की जानकारी रहती है. कौन व्यक्ति कब बाहर से आया है, कौन बीमार है इत्यादि जानकारी आम लोगों से आसानी से पता होती है. सर्वे टीम द्वारा लोगों से इसकी जानकारी ली जा रही है जिससे क्षेत्र में अगर कोई बाहर से आया हुआ व्यक्ति है या कोई बीमार है तो उसकी जानकारी जिला स्तर पर उपलब्ध कराई जा सके और लोगों को मदद पहुचाई जा सके.

इन बातों का रखें ख्याल :-
• बिना जरूरत बाहर न निकले
• हमेशा मास्क का प्रयोग करें.
• यदि घर से बाहर निकलना पड़े तब लोगों से 1 मीटर की दूरी जरुर बनायें.
• घर आने के बाद हाथों को 20 सेकंड तक पानी एवं साबुन से धोएं.
• बाहर में किसी भी चीज को छूने से परहेज करें.
• लॉकडाउन के नियमों के सख्ती से पालन करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.