शोध के लिए आवश्यक आंकड़ों के संग्रहण का मिला प्रशिक्षण

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि), महेंद्रगढ़; भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद् (आईसीएसएसआर), नई दिल्ली; स्टूडेंट फॉर होलेस्टिक डेवलपमेंट ऑफ ह्यूमेनिटी (शोध), के सहयोग से ‘शोध प्रविधि‘ पर जारी कार्यशाला में प्रतिभागियों ने शोध के लिए आवश्यक आंकड़ों के संग्रहण और उनके प्रयोग से संबंधित बारीकियों को समझा। कार्यशाला के चौथे दिन विशेषज्ञों के रूप में बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर ज्ञान प्रकाश सिंह व हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय के सहायक आचार्य डॉ. अजय पाल शर्मा ने प्रतिभागियों को सम्बोधित किया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने शोध के लिए आंकड़ों के संग्रहण और उसके आधार पर प्राप्त होने वाले निष्कर्षों को महत्त्वपूर्ण बताया और कहा कि उनके सहयोग से ही एक प्रमाणिक शोध कार्य सम्पन्न होता है।

ऑनलाइन कार्यशाला के चौथे दिन प्रोफेसर ज्ञान प्रकाश सिंह ने एसपीएसएस नामक सॉफ्टवेयर की मदद से उपलब्ध आंकड़ों के सफलतापूर्वक प्रयोग की युक्ति से अवगत कराया। उन्होंने इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से शोध से संबंधित विभिन्न आवश्यक तथ्यों को प्राप्त करने और उनके शोध कार्य में प्रयोग से संबंधित व्यावहारिक प्रशिक्षण भी प्रतिभागियों को दिया। इसके साथ-साथ डॉ. अजय पाल शर्मा ने शोध कार्य के लिए आवश्यक प्रश्नावली तैयार करने के विषय में विस्तार से बताया।

जिसमें उन्होंने स्पष्ट किया कि लक्षित उद्देश्य का निर्धारण कर किस तरह से उससे संबंधित विभिन्न प्रकार की जानकारियाँ एकत्र की जा सकती हैं। प्रबंधन अध्ययन विभाग की सहायक आचार्य डॉ. दिव्या ने विशेषज्ञों का परिचय प्रस्तुत किया व कार्यशाला के संयोजक व प्रबंधन अध्ययन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. आनन्द शर्मा भी प्रतिभागियों के साथ ऑनलाइन उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *