उर्दू मोहब्बत,भाईचारे,व गंगा जमुनी तहजीब की जबान है: डीएम

हाजीपुर(वैशाली) जिला उर्दू सेल के जेरे एहतमाम कलेक्टरेट कान्फ्रेंस हाॅल में उर्दू दां तलबा हौसलाअफजाई, मोबाहसा,मुकाबला का एक रोजा प्रोग्राम इनेकाद किया गया।प्रोग्राम का इफ्तेताह जिलाधिकारी वैशाली राजीव रौशन व अन्य पदाधिकारी के हाथों शमां रौशन कर किया गया।इस प्रोग्राम में मैट्रिक, इन्टर,ग्रेजुएशन के तलबा व तालेबात मुख्तलिफ स्कूल, कॉलेज, मदरसों में जेरे तालीम नें हिस्सा लिया।तीनों दर्जा के तलबा व तालिबात ने बारी बारी से अपने उनवान के तहत ब हुस्न व खूबी तरीका से रौशनी डाली।

इन सभी को 5जजों ने अव्वल, दोयम, सोयम दर्जा देते हुए इनाम से नवाजा।इस मौके पर जिलाधिकारी राजीव रौशन ने कहा कि उर्दू मोहब्बत, भाईचारगी,पैदा करने की जबान है।ये शीरीं जबान है साथ ही गंगा जमुनी तहजीब की विरासत है।सूबे बिहार की दूसरी सरकारी जबान की हैसियत से सरकार इसके फरोग व तरक्की के लिए बहुत सारे मंसूबे चला रही है जिस की एक कड़ी ये प्रोग्राम भी है।समाज में मुख्तलिफ जबान के लोग बसते हैं जो एक गुलदस्ते के मानिन्द हैं इस गुलदस्ता का बेहतरीन व सबसे खुशबूदार फूल उर्दू जबान है।उर्दू जबान आम हो और खूब फले- फूले सरकार का इसके लिए मुसलसल कोशिश जारी है।ये जबान सिर्फ मुसलमानों का नहीं बल्कि हर हिन्दुस्तानी की जबान है।

उर्दू जबान की तरक्की और इसके वजूद के लिए उर्दू दां तबका को आगे आने और इसे अपनाने की जरूरत है।इस मौके पर गौतम कुमार इंचार्ज उर्दू सेल ने कहा कि उर्दू जबान समाज के हर तबका में और घर-घर बोली जाती है।उर्दू के बगैर कोई भी बात पूरी नहीं होती।इन्होंने उर्दू की अहमियत पर तफसील से रौशनी डाली।मौके पर शिक्षक भरत कुमार नें सवाल खड़ा करते हुए कहा कि जिस स्कूल, कॉलेज, मदरसा के बच्चे इस प्रोग्राम में हिस्सा लेने आएं तो उसके किसी  शिक्षकों को जज न बनाया जाए।जिससे इस प्रोग्राम की सफाफियत बहाल रहे और मुन्सिफाना किरदार पर कोई दाग न आए।इस मौके पर मास्टर मोहम्मद अजीमुद्दीन अंसारी ने डीएम वैशाली की तारीफ करते हुए कहा कि गोना गों मस्रूफियत के बावजूद इस प्रोग्राम में शरीक होकर तलबा व तालिबात की हिम्मत अफजाई की।

इन्होंने ने उर्दू आबादी की जानिब से डीएम वैशाली का तहे दिल से शुक्रिया अदा किया।इस प्रोग्राम में एसडीओ महुआ, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी मोहम्मद साजिद, जिला जीपीएफ अफसर शुकर पासवान, गौतम कुमार इंचार्ज उर्दू सेल,जिला उर्दू टीचर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष मास्टर मोहम्मद अजीमुद्दीन अंसारी,कामरान गनी सबा,मौलाना नेयाज अहमद कासमी,मौलाना अब्दुल कय्यूम शम्सी, मौलाना नजरूल होदा कासमी, मास्टर अब्दुल कादिर,एस एच इमरान,मास्टर ओबैदुल्लाह,प्रोफेसर मुश्ताक, शिक्षक प्रेम नाथ बिस्मिल, भरत कुमार, मोहम्मद शाहनवाज अता(पत्रकार),मोहम्मद शाहजहां अंसारी, मोहम्मद अफरोज आलम,मोहम्मद आलम अंसारी, मोहम्मद आसिफ अता,मोहम्मद अजहरुद्दीन,मास्टर मोहम्मद कुतुबुद्दीन अंसारी,मोहम्मद जफर हुसैन,इकबाल हयात,मोहम्मद खुर्शीद आलम,मोहम्मद हेलालुद्दीन,मोहम्मद रहमत, मोहम्मद सद्दाम हुसैन, रजी अहमद, रेहाना खातून, मोहम्मद शकील नाजिर बाबू जन्दाहा आदि के अलावा उर्दू शिक्षक व उर्दू मुलाजिम समेत मोहिब्बे उर्दू बड़ी संख्या में शरीक हुए।

रिपोर्ट व फोटो मोहम्मद शाहनवाज अता

Leave a Reply

Your email address will not be published.