वॉयस ऑफ़ ह्यूमैनिटी ने गुमसुदा बच्चे को घरवाले से मिलवाया

टाटा नगर देवघर से आजमगढ़ के जगह टाटानगर के ट्रैन में बैठ गया था सूरज,3 दिनों से थे घरवाले परेशान शहर के युवाओ की टीम वॉयस ऑफ़ ह्यूमैनिटी ने एक बार फिर शहर में मानवता की मिशाल पेश की है,आजमगढ़ का रहने वाला 1 बच्चा जो मानसिक तौर पर थोड़ा कमजोर व मंदबुद्धी होने के वजह से कुछ भी बता पाने में सक्षम नहीं था और तीन दिनों से अपने परिवार वालो से बिछड़ इधर उधर भटक रहा था,लड़के का नाम सौरभ राजभर है जो अपने परिवार के साथ आजमगढ़ से देवघर पूजा अर्चना करने गया हुआ था,पूजा के बाद वापसी के वक़्त भारी भीड़ होने के वजह से बच्चा अपने परिवार से बिछड़ कर आजमगढ़ की ट्रैन पकड़ने की जगह टाटानगर की ट्रैन पकड़ लिया और टाटा उतर गया और अपने परिवार से बिछड़ गया।संस्था के संथापक हरि सिंह राजपूत और चंदन सिंह के प्रयास से बच्चे के घरवाले का पता लगाया गया और घरवालों से सम्पर्क कर बच्चे की मिलने की सुचना दी गई।घरवालों के टाटा आने तक बच्चे फिर से कही गुम न हो जाए इसलिए बच्चे को स्टेशन में अकेला छोड़ने की जगह संस्था के संथापक हरि सिंह ने बच्चे को अपने साथ घर ले कर आ गए थे ताकि बच्चा सुरक्षित रह सके घर पर रह सके ।देर रात परिवार वाले आजमगढ़ से टाटानगर पहुंचे जिसे वॉयस ऑफ़ ह्यूमैनिटी की टीम ने बच्चे को सुरक्षित घरवालों को सौप दिया,जिसके बाद घरवाले ने राहत की साँस ली और परिवार वालो में खुशी की लहर देखते ही बन रही थी । परिवार वालो ने टीम को धन्यवाद दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.