डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ की बैठक के लिए जुटी भीड़ को तितड़बितड़ करने को ले पुलिस ने चटकायी लाठी, नहीं हुई बैठक व चुनाव


 छपरा(सारण)शहर के मालखाना चौक स्थित डॉ. अंबेडकर स्मारक स्थल पर डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ के सशक्तिकरण को लेकर बैठक आयोजित किया गया था। इसको लेकर अनुसूचित समाज के अग्रणी लोगों द्वारा जिलाधिकारी को आवेदन देकर बैठक आयोजित करने को लेकर ज्ञापन दिया था। जिसके आलोक में रविवार को जिले के शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के अंबेडकर अनुयायी की भीड़ जुटने लगी। लेकिन अंबेडकर स्मारक भवन में ताला लगने के कारण सभी लोग जिला स्कूल के परिसर में जमा होने लगे। भीड़ जुटने की सूचना मिलते ही भगवान बाजार पुलिस की गाड़ी जिला स्कूल के गेट के सामने खड़ी हुई। जैसे ही सैड़को की संख्या में भीड़ इक्कठा हुई तो इसकी सूचना सदर अनुमंडलाधिकारी एवं एसपीडीओ को मिली। इस पर एसडीओ, एसडीपीओ, सदर प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी, नगर थाना पुलिस एवं भगवान बाजार पुलिस ने पहले सभी लोगों को बैठक नहीं करने का निर्देश दिया तथा भीड़ को जल्द से जल्द हटाने का निर्देश दिया। फिर भी भीड़ कम नहीं हो रही थी। इस पर सदर एसडीओ के निर्देश पर पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए हल्क बल का प्रयोग करते हुए लाठी चटकायी। इसके बाद थोड़ी देर के लिए भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। सदर एसडीओ एवं एसडीपीओ की सक्रियता से डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ की बैठक नहीं हुई। इस बावत एसडीओ ने बताया कि कोरोना लॉकडाउन को देखते हुए भीड़ नहीं लगने देना है। ताकि संक्रमण नहीं फैले। लॉकडाउन के नियमों के अनुसार कार्रवाई की जा रही है। साथ विधि व्यवस्था को लेकर एक स्थान पर भीड़ नहीं लगने दिया जा रहा है।
 
प्रशासन की कार्रवाई से लोगों में नाराजगी


 
डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ से जुड़े लोगों ने प्रशासन के इस कार्रवाई की निंदा की है। उन्होंने कहा कि संघ के सशक्तिकरण को लेकर सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार बैठक की तैयारी की जा रही थी। इसी क्रम में प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए लाठीचार्ज किया है। जिसमें कुछ लोगों को हल्की चोटें आयी है। जिसकी कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने कहा कि प्रशासन जिस तरह कार्रवाई की है अगर लोगों द्वारा संयम से कार्य नहीं लिया जाता तो भगदड़ मच जाती। लेकिन जिले के अंबेडकरवादियों ने संयम से कार्य किया है।
 
जिला स्कूल से शिशु पार्क जमा हुई भीड़ तो प्रशासन ने की कार्रवाई
जिले में डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ की बैठक को जिला स्कूल के परिसर से प्रशासन द्वारा तितड़-बितड़ करने के बाद भीड़ का कुछ हिस्सा शिशु पार्क में पहुंच गया। जिसकी सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई करते हुए शिशु पार्क पहुंचकर लोगों खदेड़कर भगाया। जहां रामकृष्ण मिशन रोड एवं हनुमान मंदिर के तरफ गये लोगों को भी पुलिस ने खदेड़ कर भगाया।
 
प्रशासनिक कार्रवाई होने पर नहीं हुई बैठक व चुनाव
 
शहर के अंबेडकर स्मारक स्थल पर डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ की बैठक करने को लेकर भीड़ जुटी थी। लेकिन अंबेडकर भवन में ताला लगने के कारण भीड़ जिला स्कूल में होने लगी। जिसकी सूचना मिलने पर प्रशासन द्वारा कार्रवाई किये जाने के बाद बैठक नहीं हो पाया है और न हीं किसी प्रकार का चुनाव कराया गया है। वहीं संघ के कुछ पुराने कार्यकर्ताओं ने बताया कि कोरोना लॉकडाउन समाप्त होने के बाद ही बैठक किया जाएगा। जिसमें संघ के अध्यक्ष एवं  कार्यकारिणी का सर्वसम्मति से चुनाव कराया जाएगा।
 
संघ में तीन गुट, सभी अपनी-अपनी दावेदारी में जुटे
 

डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ के अध्यक्ष सह दलितों के अग्रणी नेता धर्मनाथ राम के निधन के बाद से ही अध्यक्ष पद रिक्त हो गया है। जिस पर कब्जा जमाने को लेकर रसाकसी तेज हो गई है। संघ में अध्यक्ष पर काबिज होने को लेकर सामाजिक एवं राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई है। अभी तक तीन गुट के लोगों के सामने आने की जानकारी मिल रही है। सभी अपने-अपने तरीके से अध्यक्ष का दावा करने लगा है। जिससे सरगर्मी बढ़ गया है। हालांकि बुद्धिजीवी वर्ग के लोगों ने सभी लोगों को एक साथ मिलकर लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव कराने की बात कर रहे है। लेकिन गुटबाजी के कारण सहमति नहीं बन पा रही है।
 
संघ के अध्यक्ष पद की सरगर्मी पर प्रशासन मौन
 

डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ के अध्यक्ष पर रिक्त होने पर जिले में हो रहे गतिविधियों पर विराम लगाने के लिए अधिकारिक एवं प्रशासनिक स्तर पर चुप है। संघ के विचारधारा से जुड़े लोगों अपने-अपने स्तर से जिला प्रशासन से मिल रहे है। लेकिन अभी तक कोई सार्थक निष्कर्ष नहीं निकल पाया है। संघ एवं अंबेडकरवादी विचारधारा के लोगों ने बताया कि डॉ. बीआर अंबेडकर परिगणित जाति कल्याण संघ निबंधन 1977 में हुआ था। जिसके बॉयलॉज के अनुसार ही शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न कराया जाना चाहिए। ताकि जिले में शांति व्यवस्था बनी रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *