मन की चंचलता को दूर करता है योग योग प्रचारक अंगद जी महाराज

महाराजगंज सीवान शहर मुख्यालय के सेंट जोसेफ हाई स्कूल के प्रांगण में शुक्रवार को योग प्रचारक अंगद जी महाराज ने स्कूली बच्चों को योग की जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने बच्चों को भ्रस्तिका प्राणायाम,कपालभाति,बाह्य प्राणायाम,अनुलोम-विलोम, प्राणायाम सहित योगासन में ताड़ आसन, त्रिकोण ताड़ आसन, शीर्षासन, चक्रासन,मयूर आसन समेत कई प्रकार के योगासन के बारे में जानकारी दी। अष्टांग नमस्कार आसन के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि इस आसन से आठ अंगों के साथ अभिवादन किया जाता है।

यह आसन एक बार में ही आठ अंगों पर काम करता है। यह तनाव और चिंता कम करता है। पीठ की मांसपेशियों की शक्ति में सुधार और रीढ़ की हड्डी का लचीलापन बढ़ाता है। यह सूर्य नमस्कार का छठां चरण है। इस दौरान अमरेंद्र सिंह ने कहा कि यह जानकर आश्चर्य होगा कि जिन योग आसन को करने के लिए आप अपने योग मैट पर संघर्ष करते हैं, उन्हें छोटे बच्चे सरलता से कर लेते हैं। चाहे शिशु हो या दूसरी कक्षा में पढ़ने वाला बच्चा वह हर समय योग करते हैं। जैसे-जैसे वह बड़े होने लगते हैं वह योग करना छोड़ देते हैं।

उन्हें फिर से योग सीखने की जरूरत पडती हैं। दुनियाभर के स्कूल अब यह स्वीकार करने लगे हैं कि बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिए योग एक महत्वपूर्ण भूमिका है और वे बच्चों को इस प्राचीन प्रथा में रुचि लेने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। मौके पर विद्यालय के प्रधानाचार्य सीओ पुन्नूस, मोहन सिंह,रंजीत तिवारी, हरिशंकर पांडेय, मनीष कुमार मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.