हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय में लैंगिक असमानता पर संवाद आयोजित

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि), महेंद्रगढ़ में उच्च शिक्षा में लैंगिक असमानता, बाल-विवाह और राजनीति में महिलाओं की न्यूनतम भागीदारी विषयों पर केंद्रित संवाद का आयोजन किया गया। विश्वविद्यालय के जेंडर चैम्पियन आशा व आलोक द्वारा आयोजित इस तत्क्षण संवाद प्रतियोगिता में भारी संख्या में प्रतिभागियों ने उपरोक्त विषयों पर अपने विचार व्यक्त किए। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने संदेश के माध्यम से कहा कि महिलाएं पुरातन काल से ही भारतीय समाज की मजबूत नींव की तरह स्थापित हैं और उन्हें समाज में उनके योगदान को देखते हुए सम्मान व गौरव प्रदान किया जाना चाहिए।

कार्यक्रम को को संबोधित करती डॉ रेनु यादव


विश्वविद्यालय में स्थापित जेंडर चैम्पियन व्यवस्था की नोडल ऑफिसर डॉ. रेनु यादव ने महिला सशक्तिकरण प्रकोष्ठ की गतिविधियों और जेंडर चैम्पियन की संकल्पना पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था विश्वविद्यालय के महिला सशक्तिकरण प्रकोष्ठ के तहत स्थापित की गई है और इसके अंतर्गत गुरूवार को आयोजित कार्यक्रम में लैंगिक असमानता पर विचार-विमर्श के साथ-साथ जल-शक्ति अभियान को ध्यान में रखते हुए जल संरक्षण की शपथ भी प्रतिभागियों ने ली। कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले प्रतिभागियों की प्रस्तुतियों का निर्णायक मंडल में शामिल डॉ. आरती यादव, श्री अलेख एस. नायक ने मूल्यांकन किया। इस अवसर पर प्रो. सारिका शर्मा व डॉ. प्रमोद कुमार सहित भारी संख्या में शिक्षक व विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.