भंडाफोड़ परिवर्तन यात्रा के तहत भगवानपुर महाविद्यालय भगवानपुर हाट के परिसर में हुई रथ का स्वागत

भगवानपुर हाट(सिवान)प्रखंड मुख्यालय में स्थित भगवानपुर महाविद्यालय भगवानपुर हाट के परिसर में  पहुंची बहुजन मुक्ति पार्टी के बिहार राज्य परिवर्तन यात्रा के पहुंचते ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मान्यवर वीएल मातंग साहब का स्थानीय कार्यकर्ताओं के द्वारा जोरदार स्वागत किया गया। इसके बाद यह कार्यक्रम सभा में परिवर्तित हो गया। जिसकी अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष मान्यवर वीएल मातंग साहब ने कहा कि चुनाव आयोग सुप्रीम कोर्ट,भाजपा व कांग्रेस की गुप्त समझौता के तहत मूलनिवासी बहुजन समाज के वोट को प्रभाव हीन कर दिया गया है वर्तमान सरकार ईवीएम की घोटालों को सरकार है वे सभी देश जिन्होंने ईवीएम का निर्माण किया उस देश में ईवीएम के द्वारा चुनाव नहीं कराया जाता है भारत में ही क्यों भारत से कई गुना टेक्नोलॉजी में आगे अमेरिका,ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, जापान, यूक्रेन व आपके पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी बैलेट पेपर से चुनाव होता है भारत में ईवीएम से क्यों इसका सवाल ढूंढने पर पता चलता है कि मूलनिवासी बहुजन समाज के वोट को ईवीएम के माध्यम से प्रभाव हीन कर दिया गया है।आगामी चुनाव बैलेट पेपर से नहीं हुआ तो भारत में आर-पार की लड़ाई होगी इसकी तैयारी हेतु बहुजन मुक्ति पार्टी भारत के 600000 गांव तक पहुंचने का प्रोग्राम बनाई है ।इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमाशंकर साहनी ने कहा कि यह परिवर्तन यात्रा 26 जून बेगूसराय से आरक्षण के जनक छत्रपति शाहूजी महाराज के जन्म दिवस के अवसर पर शुरू किया गया है  इस कार्यक्रम का 24 वे दिन महाराजगंज विधानसभा में पहुंची है। यह परिवर्तन यात्रा 40 दिनों तक निरंतर चलने वाली है। यह यात्रा बिहार के 38 जिलो के 101 अनुमंडल होते हुए 243 विधानसभा को कवर करेगी ।भारत में लोकतंत्र एवं संविधान बचाने के लिए ईवीएम का भंडाफोड़ परिवर्तन यात्रा निकाली गई है। इसका आमजनता का जनसमर्थन मिल रहा है। मौके पर डॉक्टर ओम प्रकाश कुशवाहा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रदेश अध्यक्ष अमित कुमार अंबेडकर, गफ्फार अंसारी ,अमन कुमार पासवान ,प्रदीप यादव, व्यास मांझी, रीतलाल मांझी,सुनील कुमार यादव,आदि वक्ताओं ने अपनी बात रखी। इस अवसर पर स्थानीय लोगो में हरेंद्र पासवान ,राजद नेता अशोक राय,लक्ष्मण राम, फजले अली, सहित सैकड़ों लोग शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.