विश्व पर्यावरण दिवस:पांच पौधों के साथ हुआ केडीएफ पौधारोपण महाअभियान की शुरुआत

प्रत्येक वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस पर केडीएफ द्वारा अक्टूबर तक चलने वाले पौधारोपण महाअभियान की होती है शुरुआत

इस वर्ष कोरोना और लॉक डाउन को लेकर हुआ बेहद छोटा कार्यक्रम

मेरठ(यूपी)पर्यावरण संरक्षण की राष्ट्रीय उत्कृष्ट संस्था कांति देवी(केडी) फाउंडेशन(केडीएफ) द्वारा प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी शुक्रवार को विश्व पर्यावरण दिवस पर अपने पौधारोपण महाअभियान की शुरुआत की गई। शास्त्री नगर के द गुरुकुलम इंटरनेशनल स्कूल के पार्क में शुभारंभकर्ता मुख्य अतिथि नौचंदी थाने के एसएचओ आशुतोष कुमार सिंह, संरक्षक मनोहर सिंह आहूजा, विशिष्ट अतिथि प्रिंसिपल कवल जीत सिंह, संयुक्त व्यापार संघ के मंत्री अंकुर गोयल, उद्यमी संदीप चौधरी, सीए विवेक रस्तोगी, संस्था के चेयरमैन सुनीता रस्तोगी, संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष एडवोकेट हिना रस्तोगी व उपाध्यक्ष सौरभ गुप्ता ने संयुक्त रूप से अलग-अलग जगहों पर पांच पौधे लगाए और एक तुलसी पौधा लगाकर पौधारोपण महाअभियान की शुरुआत की। कार्यक्रम की अध्यक्षता चेयरमैन सुनीता ने की संचालन सचिव शिक्षक कृतिका ने किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि एसएचओ आशुतोष सिंह ने कहा कि देश में खराब व दूषित हो रहे पर्यावरण को लेकर हालांकि बीते एक दशक से हरियाली और पौधारोपण पर जोर है लेकिन आज के मौजूदा समय में बेहतर पर्यावरण व हरियाली को बनाये रखने की बड़ी चुनौती सभी के बीच है। ऐसे में केडी फाउंडेशन जिस तरह से बीते कई वर्षो से विश्व पर्यावरण दिवस पर प्रत्येक वर्ष पौधारोपण महाअभियान की शुरुआत करती है और लगातार अक्टूबर तक पूरे जिले व प्रदेश में चलाती है, वह वाकई अच्छी बात तो है ही साथ ही तुलसी पौधा घर-घर पहुंचाने का जो अभियान है वह भी धर्म, आयुर्वेद और औषधि के रूप में बड़ी पहल है। संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष एडवोकेट हिना ने बताया कि कोरोना और लॉक डाउन को लेकर इस वर्ष कार्यक्रम बेहद छोटा रखा गया था। उन्होंने बताया कि बीते वर्ष साढ़े सात हजार पौधे रोपे गए थे और 9 हज़ार तुलसी पौधे घर-घर, कार्यक्रमों में, मंदिरों में आदि जगहों पर वितरित किए गए थे। इस साल भी करीब लक्ष्य कमोवेश इतना ही है। प्लास्टिक मुक्त भारत के लिए 6 हज़ार कपड़े के थैले भी बांटे जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.