योग दिवस एकजुटता का दिन होता है:उप सेनानी संजय सिंह

छपरा(बिहार)वैश्विक महामारी कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए भारत सरकार एवं आईटीबीपी निदेशालय के द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देश के आलोक में सारण ज़िले के जलालपुर प्रखंड के कोठेया गांव स्थित 6 वीं बटालियन आइटीबीपी के कैंप परिसर में 6 वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन सामान्य योग प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सामूहिक रूप से योग अभ्यास किया गया.

विश्व योग दिवस के महत्व को बताते हुए आईटीबीपी कैंप के उप सेनानी संजय सिंह ने बताया कि योग दिवस एकजुटता का दिन होता है और आज भावात्मक योग का भी दिन है. सबसे खास बात यह हैं कि जो दूरियां खत्म करे, वही योग है. योग से मानव शरीर के इम्युनिटी बढ़ाने में मदद मिलती है. हर दिन प्राणायाम करना चाहिए.

दुनिया भर में योग के माध्यम से लोगों में उत्साह बढ़ रहा है,
योग का अर्थ समर्पण व सफलता होता है. हर परिस्थिति में सामान्य रहने का नाम योग है. योग किसी से भेदभाव नहीं करता हैं बल्कि परस्पर सहयोग करता हैं, योग कोई भी इंसान कर सकता है. योग से शांति और सहनशक्ति दोनों मिलती है. कर्म की कुशलता का दूसरा नाम योग है.

मनोयोग के साथ करें योग और भगाए कोरोना वायरस जैसे महामारी बीमारी को तभी आप व आपकी जिंदगी स्वास्थ्य रह सकती हैं, क्योंकि कोरोना संकटकाल में योग की अहमियत और ज्यादा बढ़ गई है, योग करने से हमलोगों का शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होता है और बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी बढ़ती है.

प्रसिद्ध प्रशिक्षकों द्वारा योगा के माध्यम से योग के दौरान प्राणायाम के अतिरिक्त अन्य सूक्ष्म योगा का अभ्यास कराते हुए उनसे होने वाले लाभों से भी अवगत कराया गया.
इस अवसर पर 6 वीं वाहिनी के 4 वरीय अधिकारियों सहित लगभग 45 पदाधिकारियों द्वारा योगा अभ्यास किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.