बिहार पुलिस इंस्पेक्टर का प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट जारी,आयोग के अधिकारीक बेवसाइट bpssc.bih.nic.in देखे

फ़ोटो गूगल

पटना:सूबे में बिहार पुलिस में सब इंस्पेक्टर के लिए हुई परीक्षा का परिणाम बीपीएसएससी ने घोषित कर दिया गया है। बिहार पुलिस में सब इंस्पेक्टर और सार्जेंट के पदों पर भर्ती के लिए आयोजित हुई प्रारंभिक लिखित परीक्षा का रिजल्ट जारी हो गया है।परीक्षा परिणाम बिहार पुलिस सबोर्डिनेट सर्विस कमिशन की आधिकारिक वेबसाइट bpssc.bih.nic.in पर जाकर देख सकते है।ज्ञात हो कि सब इंस्पेक्टर के 1998 और सार्जेंट के 215 पदों के लिए 26 दिसम्बर को प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की गई थी।इस परीक्षा में लगभग 6 लाख परीक्षार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने सफल अभ्यर्थियों की सूची वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है।

सब-इंस्पेक्टर व सार्जेंट पदों पर भर्ती की मुख्य परीक्षा के लिए 47900 अभ्यर्थियों का चयन किया गया है। 608736 अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा 26 दिसंबर को दो पालियों में कराई गई थी। इनमें पहली पाली की परीक्षा में 223735 अभ्यर्थी और दूसरी पाली की परीक्षा में 226143 अभ्यर्थी परीक्षा में बैठे थे।

दोनों पालियों की परीक्षा में 433271 अभ्यर्थियों को रिजल्ट जारी करने योग्य पाया गया।इन अभ्यर्थियों में 265681 ने 30 फीसदी से अधिक अंक हासिल किए। जबकि 167590 अभ्यर्थियों ने 30 फीसदी से कम मार्क्स हासिल किए। प्रारम्भिक परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जायेगा। अंतिम रूप से सफल अभ्यर्थियों की मेरिट लिस्ट मुख्य लिखित परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर आरक्षण कोटिवार तैयार की जायेगी।


लिखित परीक्षा में दो या दो से अधिक अभ्यर्थियों के समान अंक प्राप्त करने की स्थिति में मेधा सूची में उनके स्थान का निर्धारण उनकी जन्म तिथि के आधार पर किया जायेगा अर्थात उम्र में वरीय अभ्यर्थी मेधा क्रम में ऊपर रहेंगे। समान अंक प्राप्त करने एवं समान जन्म तिथि वाले दो या दो से अधिक अभ्यर्थियों की स्थिति में मेरिट लिस्ट सूची में उनके स्थान का निर्धारण उनकी शैक्षणिक योग्यता के आधार पर किया जाएगा अर्थात अधिक शैक्षणिक योग्यता वाले अभ्यर्थी मेधा क्रम में ऊपर रहेंगे।

प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट जारी करने के बाद पुलिस अवर सेवा आयोग दारोगा और सार्जेंट की मुख्य परीक्षा की तैयारी में जुट गया है। यदि कोरोना का संक्रमण का फैलाव कम होता है  तो मुख्य परीक्षा में जल्द हो सकती है।हालात बेहतर हुए तो आयोग बगैर समय गवांए मुख्य परीक्षा आयोजित करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.