चुगाम की रहने वाली लड़की मीनाक्षी का जाने दर्द

पटना धारा 370 हटाने के बाद एक ओर जहां पूरे भारत वर्ष में खुशी देखी जा रही है वहीं दूसरी तरफ वो लोग भी आज खुश हैं जो धारा 370 के कारण एक बार अपने घर कश्मीर से बाहर हो गए तो फिर कश्मीर नहीं जा सके .वहीं आज से 16 साल पहले पटना के रहने वाले सतीश चंद्र ने कश्मीर की  चुगाम की रहने वाली लड़की मीनाक्षी से शादी की.. हालांकि सतीश पटना में रहते थे और यही उनका काम था इसलिए वह अपने पत्नी के साथ पटना वापस आ गए .लेकिन धारा 370 रहने के कारण उनकी पत्नी का कश्मीर वापस जाना मुश्किल हो रहा था. शादी के 16 साल बाद सतीश के दो बच्चे हैं अब वह अपने नानी के घर जाना चाह रहे हैं..बच्चों का भी साफ कहना है कि धारा 370 हटने के बाद वह नानी के घर जा पाएंगे .बच्चों को खेल में भी रूचि थी लेकिन वह वहां रहकर खेल नहीं सकते थे .क्योंकि वहां की खिलाड़ियों को भारत के तरफ से खेलने पर प्रतिबंध था. अब धारा 370 खत्म हो गया कश्मीर केंद्र शासित हो गया .अब केंद्र के द्वारा किसी भी खेल का आयोजन होने पर कश्मीर के लड़कों को भी खेलने का मौका मिलेगा और देश के नाम के साथ उनका नाम भी खिलाड़ियों के लिस्ट में शामिल होगा. वही कश्मीर की रहने वाली मीनाक्षी का कहना है कि आज से 16 साल पहले वहां की स्थिति खराब तो थी ही वहां के युवाओं को शिक्षा पर ज्यादा ध्यान नहीं दिलवाया जाता .उनकी मजबूरी का फायदा उठा कर वहां के स्थानीय नेता या असामाजिक तत्व के लोग उनको पत्थरबाज बनने और आतंकवादी बनने पर मजबूर कर देते थे .लेकिन धारा 370 खत्म होने के बाद रोजगार के अवसर दिख रहे हैं…..” कश्मीर में शादी करने वाले पटना निवासी सतीश का कहना है कि अब रोजगार का अवसर है सरकार अगर रोजगार मुहैया करवाती है तो वह अपने ससुराल में भी जाकर कुछ नया काम शुरू कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.