भगवानपुर में मिला कोरोना का संदिग्ध मरीज भेजा गया सीवान

भगवानपुर हाट (सीवान)थाना क्षेत्र के एक गांव में 21 मार्च को महाराष्ट्र राज्य के पूना शहर से घर पहुचने से गांव में हड़कम्प मचा है। घर आए युवक के संबंध में बताया जा रहा है कि युवक पूना शहर में रहकर चीन की कंपनी में चालक का काम करता था। जब युवक को सर्दी जुखाम की शिकायत हुई तो कंपनी ने पूना में इलाज के लिए भर्ती कराया था तभी युवक ने वहा से भागकर घर पहुच गया है। घर पहुचने की सूचना लोगों तक पहुचा तो युवक में नावेक कोरोना होने की संका से गांव के लोगों में हड़कम्प मचा है। जब गांव के लोगों द्वारा सुबह में स्थानीय पीएचसी को सूचना दिया तो स्वस्थ्यकर्मी घर पहुच युवक को देखा तथा वरीय अधिकारियों को सूचना देने की बात कह वापस चले आए।इसके तुरंत बाद संदिग्ध युवक पैदल ही पीएचसी पहुचा तो युवक को स्वास्थ्य केंद्र में बने आइसोलेशन यार्ड नहीं रखा गया। जिसके कारण कोरोना के संदिग्ध युवक को पीएचसी के खुले परिसर में करीब चार घण्टे तक जिला से एम्बुलेंस आने का इन्तेजार करता रहा। वही दोपहर के बाद करीब ढाई बजे जिला से आए वाहन से युवक को सदर अस्पताल भेजा गया।अब सवाल उठना लाजमी है कि कल तक प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अनिल कुमार कहते थे कि कोरोना के संदिग्ध मरीजो के लिए अस्पताल में आइसोलेशन यार्ड बनाया गया है। किसी को घबराने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन जब संदिग्ध युवक अस्पताल पहुचा तो उसे बाहर ही क्यों रखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.