जापानी इंसेफेलाइटिस टीकाकरण को लेकर स्वास्थ्यकर्मियों को दिया गया प्रशिक्षण

17 जून से शुरू होगा जापानी इंसेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान

1 वर्ष से 15 वर्ष तक के बच्चों को दिया जाएगा टिका

आईसीडीएस द्वारा अभियान में किया जाएगा सहयोग

कोविड-19 से बचाव का रखा जाएगा ध्यान

पूर्णियाँ(बिहार)जापानी इंसेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान की शुरूआत 17 जून से सभी जिलों में आयोजित की जाएगी. इस दौरान 1 वर्ष से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों को टिका लगाया जाएगा. इस सम्बंध में जानकारी देने हेतु जिला सदर अस्पताल के जिला प्रतिरक्षण सभागार में जिले के सभी स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया. प्रशिक्षण में उन्हें टीकाकरण के दौरान ध्यान रखने योग्य बातों की जानकारी देने के साथ ही कोरोना संक्रमण से बचाव पर भी ध्यान रखने का निर्देश दिया गया. प्रशिक्षण सिविल सर्जन की अध्यक्षता में हुई जिसमें डॉ. उमेश शर्मा, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. एस. के. वर्मा, डीआईओ सुभाष चंद्र पासवान, आईसीडीएस डीपीओ शोभा सिन्हा के साथ ही सभी प्रखड़ों के चिकित्सा पदाधिकारी, बीसीएम, बीएचएम, स्वास्थ्य प्रशिक्षक के साथ ही डेवलपमेंट पार्टनर्स के सदस्य भी उपस्थित रहे.

स्वास्थ्यकर्मियों को मिला प्रशिक्षण :
प्रशिक्षण के दौरान सिविल सर्जन डॉ उमेश शर्मा ने बताया टीकाकरण के लिए सभी स्वास्थ्य कर्मियों को पूरी तरह प्रशिक्षित कर के भेज जाएगा व जिला में शत प्रतिशत टीकाकरण की उपलब्धि हासिल की जाएगी. प्रशिक्षण में सभी स्वास्थ्यकर्मियों को पम्पलेट के साथ ही टीकाकरण सम्बंधित जानकारी दी गई. सभी स्वास्थ्यकर्मियों को टीकाकरण के दौरान टीका का रख-रखाव,टिक की खुराक, टीका देने के लिए बनाए गए रुट व स्थान सम्बधी जानकारी भी दी गई.

17 जून से शुरू होगा टीकाकरण अभियान :
डीआईओ सुभाष चंद्र पासवान ने कहा जापानी इंसेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान की शुरूआत 17 जून से शुरू किया जाएगा. इस अभियान में 1 वर्ष से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों को टीका लगाया जाएगा. इन बच्चों को जे.ई. वैक्सीन का एक खुराक 0.5 मिली. का दिया जाएगा. जिले में 1 वर्ष से 15 वर्ष तक के कुल बच्चों की संख्या 12.32 लाख है, जिसके लिए जिले में 13.68 लाख डोज वैक्सीन का उपलब्ध कराया गया है. टीकाकरण के प्रथम सत्र में 1 वर्ष से 5 वर्ष तक के सभी बच्चों के साथ ही 6 वर्ष से 15 वर्ष तक के उन बच्चों को भी शामिल किया जाएगा जो किसी विद्यालय में पढ़ने नहीं जाते हैं. 6 वर्ष से 15 वर्ष के बच्चों को जे.ई. का टिका स्कूल में बच्चों की उपस्थिति के उपरांत अभियान चलाकर दिया जाएगा.

टीकाकरण अभियान में आईसीडीएस करेगा सहयोग :
जापानी इंसेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान में आईसीडीएस का सहयोग लिया जाएगा. इनके सहयोग द्वारा 1 वर्ष से 5 वर्ष तक के बच्चों को वीएचएसएनडी के सत्रों पर कुल तीन दिनों के लिए अभियान चलाकर टीका लगवाया जाएगा. इन सत्रों में ऐसे बच्चों को भी शामिल किया जाएगा जो विद्यालय नहीं जाते हैं. प्रत्येक बच्चों को टीकाकरण के पश्चात उन्हें टीकाकरण कार्ड भी दिया जाएगा.

कोविड-19 से बचाव का रखा जाएगा खयाल :
टीकाकरण के दौरान कोविड-19 संक्रमण से बचाव का खयाल रखा जाएगा. इसके लिए सभी टीकाकरण दल सुरक्षा कीट के साथ रहेंगे. इसके अलावा सभी एएनएम के पास भी एक अनाफायलैक्सिस किट उपलब्ध रहेगी. एक जे.ई. टीकाकरण दल में 1 टीकाकर्मी तथा 3 उत्प्रेरक (आशा, आंगनबाड़ी सेविका तथा एक शिक्षक या भोलेंटियर) होंगे. टीकाकरण के दौरान बच्चों के बीच भी 2 गज की दूरी बनाए रखने, मास्क का प्रयोग करने आदि का ध्यान रखा जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.