विश्व गुरु तथागत गौत्तम बुद्ध की जयंती मनाई गई

बनियापुर (सारण)मे प्रखंड के बेदौली पंचायत भवन के प्रांगण में बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बुद्धम शरणं गच्छामि,धमम शरणं गच्छामि, संघम शरणं गच्छामि के जय घोष के साथ बुद्ध जयंती के कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें तथागत गौतम बुद्ध के तैल चित्र के समक्ष मोमबत्ती जला कर एवं पुष्प अर्पित कर विश्व को (आडम्बर,भेद भाव,जैव आतंकवाद ,ग्लोबल वार्मिंग,)रुपी अंधकार से मुक्त करने का संदेश दिया गया।इस अवसर वीआईपी पार्टी के अति पिछड़ा प्रकोष्ट प्रदेश सचिव श्रवण कुमार महतो ने बताया कि बैशाख पूर्णिमा के दिन ही गौतम बुद्ध का जन्म, ज्ञान कि प्राप्ति और परिनिर्वाण भी हुआ जो एक संयोग मात्र है। इस लिए आज का दिन बहुत ही खास है। मौके पर मौजुद प्रोफ़ेसर मनोज कुमार सत्यम ने कहा कि तथागत गौतम बुद्ध द्वारा बताए गए आधुनिक युग में मध्यम मार्ग(पंचशील और त्रिशरण) मनुष्य को किसी भी अति से बचने का संदेश देता है। सिर्फ़ भौतिक लक्ष्य पाने के लिए ही अपनी सारी ऊर्जा नष्ट न करे, पैसे के पीछे न भाग कर बल्कि स्वार्थरहित होकर मध्यम मार्ग पर चल कर भी पाया जा सकता है।


प्रभु कुमार प्रियदर्शी ने कहा “माध्यम मार्ग के तहत धैर्य की सीढ़ी-: कोविड19 को लेकर लॉक डाउन में अमुक स्थान के लोगो का सब्र टुट गया वे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नही कर रहे है।
“”एक बार तथागत बुद्ध और उनके अनुयायी को रास्ते में बहुत सारे गढ़े मिले, तब बुद्ध ने शिष्यों को बताया पानी के लिए गड्ढे खोदे गए हैं,ऐसे धैर्य के साथ निरतंर खुदाई होती तो पानी अवश्य ही निकल जाता”” हमे भी वैसे ही धैर्य की जरूरत है सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर कोविड19 से जंग जीत सकते हैं।मौके पर मौजुद बेदौली मुखिया प्रतिनिधि सह समाज सेवी रविन्द्र राम ने बताया कि “अत दीपो भवः” अपना दीपक स्वयं बने ।इस अवसर पर अनुसूचित जाति जिला अध्यक्ष धर्मेन्द्र बैठा, समाजसेवी बिक्रम चौधरी, प्रभु प्रियदर्शी,विजय महतो, आदि गणमान्य लोग मौजुद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.