यज्ञ से प्रेम ,शांति और आनन्द रूपी धन की प्राप्ति होती है-आनन्द शंकर

बनियापुर (सारण) यज्ञ से प्रेम, शांति और आनन्द रूपी धन की प्राप्ति होती है।यह बाते प्रखंड क्षेत्र के अमांव गांव में आयोजित पांच दिवसीय नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ का समापन समारोह को संबोधित करते भाजपा के वरिष्ट नेता आनन्द शंकर ने कही ।उन्होंने कहा कि यज्ञ में दो बाते होती है’ ध्यान और प्रार्थना ‘ ध्यान आपको खुद से जोड़ता है वही ध्यान आपको ईश्वर से ,।यज्ञ के मुख्य आचार्य शांतिकुंज हरिद्वार से आए पण्डित धर्मेन्द्र पाण्डेय के प्रवचन से पूरा गांव भक्तिमय हो गया।सारण जिला गायत्री परिवार के संयोजक आचार्य नन्दजी महाराज ने वैदिक मंत्रोचारण के बीच हवन सम्पन्न कराया।हवन में यज्ञशाला सहित आस पड़ोस के हजारों महिला पुरूषो एंव कुवांरी कन्याओं ने हिस्सा लिया।

श्रद्धालु भक्तों में हवन को ले काफी उत्साह दिखा एंव श्रद्धालु भक्त अहले सुबह से ही यज्ञ स्थल पर पंहुच हवन में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।हवन में शामिल श्रद्धालु लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो इसको ध्यान में रखते हुए यज्ञ समिति के लोगो ने काफी सराहनीय वयवस्था की थी। मौके पर विशाल भंडारे का आयोजन किया गया।यज्ञ आयोजन समिति के सदस्य दिनेश सिंह, मिथिलेश सिंह, ई० विकाश सिंह, बिट्टू सिंह, बण्टी सिंह, सुमित कुमार, विवेक पांडे, अरुण यादव, प्रणव ई0 विकास सिंह विवेक पाण्डेय अरुण यादव निरंजन राय रूद्र अ र्ववि सिंह ई0 ब्रजेश सिंह सहित दर्जनो सदस्यों की भुमिका सराहनीय एंव प्रशंसनीय रही जो यज्ञ स्थल पर आने वाले श्रद्धालु भक्तों को किसी तरह की परेशानी न हो इसका विशेष ध्यान रखते हुए व्यवस्था मे जी जान से जुटे रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.