युवा क्रांति की प्रथम प्राथमिकता गंदा सरोवर व शहर से निजात दिलाना

छपरा शहर में यूं तो अनेक तालाब हैं परन्तु शहर के एकदम मध्य स्थित राजेन्द्र सरोवर जो अलीयर साहब के पोखरा के नाम से पहचानी जाने वाले तालाब की स्थिति एकदम दयनीय बनी हुई है। जो सरकारी बस स्टैंड के कुछ दुरी पर है,गंदगी  का  यहाँ आलम है कि इसको देखकर सामान्यत: कोई यह अंदाजा नहीं लगा सकता कि यह तालाब है प्रथम दृष्ट्रि में एक खेल मैदान जैसा दिखलाई देता है युवा क्रांति के अध्यक्ष विजय राज ने कहा कि तालाबों को सरोवर धरोहर योजना के तहत सहेजना प्रथम प्राथमिकता होना चाहिए था, लेकिन  धरोहर नहीं बन सके बल्कि सफाई नहीं होने के कारण कुड़ादान जरूर बन गए हैं।वही अनिल सिंह एवं अर्जुन सिंह ने  एक सुर में कहा कि सारण में तालाबों का धीरे-धीरे अस्तित्व खत्म होने की ओर है। सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखने के लिए प्लानिंग के अभाव में अधिकांश तालाब जलकुंभी व गंदगी की भेंट चढ़ गए हैं सफाई के दौरान तलाब से भारी मात्रा में पाँलिथीन और पुजा सामग्री के अवशेष निकाला गया। श्रमदान कर सरोवर सफाई करनेवाली 25 सदस्यों में मुख्य रूप से अनिल सिंह, मनटन सिंह, विवेक सिंह,गौतम बंसल, मनीष मनी,अनुज(बजरंगी), प्रशांत राठौर,आदर्श तिवारी,अप्पू सिंह, रितेश गुप्ता,दीपक पटेल,चंदन कुमार,माधवेंद्र मिश्रा,विक्की कुमार,अमित कुमारऔर अन्य सदस्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.