सावधानी:खाद्य पदार्थों की खरीदारी करते समय रहे सतर्क

एफएसएसएआई ने खाद्य पदार्थों से संक्रमण प्रसार की संभावना पर दी जानकारी

डिलीवरी प्लेटफार्म से मंगाए गए फ़ूड पैकेट से भी फ़ैल सकता है संक्रमण

कटिहार(बिहार)कोरोना संक्रमण के मामलों को रोकने के लिए अभी तक कोई सटीक उपचार उपलब्ध नहीं हो सका है. लेकिन कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार को जरुरी सावधानी बरतकर रोका जा सकता है. इस दिशा में सरकारी संस्थानों के अन्य सहयोगी संस्थाएं भी निरंतर कार्य कर रही है ताकि देश में कोरोना संक्रमण को सामुदायिक प्रसार में तब्दील होने से बचाया जा सका. इसको लेकर एफएसएसएआई ( फ़ूड सेफ्टी एंड स्टैण्डर्ड अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया) ने फ़ूड हाइजीन एवं उपभोक्ताओं में कोरोना प्रसार को रोकने के लिए सुरक्षा एवं पोषण गाइडलाइन्स जारी की है. जिसमें खाद्य पदार्थों की खरीदारी, डिलीवरी पॉइंट्स से खाना आर्डर करने, खाद्य पदार्थों की साफ़-सफ़ाई सहित खाना बनाने के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव की विस्तार में जानकारी दी गयी है.

खाद्य पदार्थों की खरीदारी के समय रहें सतर्क:
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकारी प्रयासों के इतर आम लोगों को दैनिक खाद्य पदार्थों की खरीदारी के दौरान सतर्क रहने की सलाह एफएसएसएआई ने दी है. इसके लिए खाद्य पदार्थों की खीरदारी के वक्त सावधान रहने की बात बताई गयी है. ग्रोसरी या किराना स्टोर में जाने से पूर्व मास्क एवं ग्लोब्स के इस्तेमाल करने, भीड़-भाड़ वाले स्टोर में जाने से बचने, ऑनलाइन पेमेंट करने, स्टोर में अन्य लोगों से सामाजिक दूरी बनाने, स्टोर में जाने के लिए अलग से कपड़ों के इस्तेमाल करने जैसी सावधानियाँ बरतकर संक्रमण से बचा जा सकता है. वहीं स्टोर में अन्दर भी कुछ जरुरी बातों का ध्यान रखने की जरूरत पर जानकारी दी गयी है. यह बताया गया है कि स्टोर में जाने के बाद उन्हीं चीजों को छुए जिन्हें खरीदना हो, स्टोर के अंदर काउंटर या कॉमन छुए जाने वाली चीजों को स्पर्श नहीं करें, अपनी आँख, मुँह एवं नाक को स्टोर के भीतर नहीं छुएं. घर पहुंचने के बाद अपने जूते,कपडे एवं खीरदारी वाली बैग को अलग कर रखें. साथ ही इसके बाद हाथों को अच्च्गी तरह साफ़ करें एवं मोबाइल को भी सैनिटाइज्ड करें.

खाद्य पदार्थों की सफाई भी है जरुरी:
बाजार से खरीदे गए फल, सब्जियां, पैक्ड मिल्क, मिट एवं अंडे एवं अन्य खाद्य पदार्थों की सफाई करना जरुरी है. फल एवं सब्जियों को गुनगुने पानी से अच्छी तरह साफ़ करें या पानी में 50 पीपीएम क्लोरीन मिलाकर इसे साफ़ करें. कभी भी फल एवं सब्जी को डिसइन्फेकटेंट्स से, क्लीनिंग वाइप या साबुन से साफ़ नहीं करें. सैनिटाइजर का भी उपयोग फल एवं सब्जी को साफ़ करने के लिए कभी नहीं करें. पैक्ड दूध को घर लाने के बाद पैकेट को अच्छी तरह पानी से धोएं. तुरंत पैकेट को नहीं काटें बल्कि पैकेट सूखने के बाद ही दूध बाहर निकालें. मिट या अंडे को फल एवं सब्जियों के साफ़ करने के बाद ही करें. बहते हुए नल के पानी से मिट को अच्छी तरह साफ़ करें. जरूरत से अधिक अंडों की खरीदारी नहीं करें.

डिलीवरी प्लेटफार्म से खाना आर्डर करने में भी बरतें सावधानी:
डिलीवरी बॉय जब खाना आपके यहाँ पहुँचाने आये तब उससे दूरी बनाकर ही खाना लें. कोशिश करने खाने का पेमेंट ऑनलाइन किया जा सके. फ़ूड पैकेट लेने के बाद इसे तुरंत इस्तेमाल करने की जगह किसी खाली जगह पर इसे कुछ देर के लिए रखें. पैकेट खोलने के बाद कवर को डस्टबिन में डालें. इसके बाद हाथों की साबुन या अल्कोहल आधारित सैनिटाइजर से साफ़ करें.

खाना बनाते समय भी संक्रमण फैलने का हो सकता है खतरा:
खाना बनाते समय अधिक स्वच्छता का ध्यान रखने की जरूरत बताई गयी है. गाइडलाइन्स के अनुसार इन बातों का ख्याल रखने की सलाह दी गयी है:
• किसी को यदि फ्लू के लक्षण हो तो वह खाना नहीं बनायें
• बर्तन एवं चाकू की अच्छी तरह से सफाई करें
• पके हुए खाने को अच्छी तरह ढक कर रखें
• खाना बनाने से पूर्व हाथों को साबुन या अल्कोहल आधारित सैनिटाइजर से साफ़ करें. खाना खाने से पहले भी हाथों की अच्च्गी तरह से सफाई करना जरुरी है
• खाने के स्वाद को चेक करने के लिए खाने में अपनी उँगलियाँ नहीं डालें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.